Wednesday, 26th June, 2019

चलते चलते

'अमित शाह' वाली भविष्यवाणी सच होते ही केजरीवाल के घर 'भविष्यफल' जानने वालों का ताँता, छोटा पड़ा दफ़्तर

02, Jun 2019 By किल बिल पांडे

ब्यूरो. कहते हैं कि ऊपर वाला आपको क्या हुनर चुपके से दे देता है, कभी-कभी आप खुद उससे अनजान रहते हैं। जब वही हुनर अचानक दुनिया के सामने आता है तो लोग हैरान रह जाते हैं। कुछ ऐसा ही हो रहा है आम आदमी पार्टी सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल के साथ।

Kejriwal2
सब अपने हाथ ऐसे करो..

दरअसल, चुनावी मौसम में अप्रैल के महीने में ही केजरीवाल ने ट्वीट कर ये भविष्यवाणी कर दी थी कि, यदि नरेन्द्र मोदी की प्रधानमंत्री के तौर पर वापसी होती है तो अमित शाह का गृह मंत्री बनना तय है।

शुक्रवार को मंत्रिमंडल के नेताओं के नाम सामने आते ही उनकी कही ये बात सौ प्रतिशत सच साबित हो गयी।

अब शुक्रवार दोपहर से ही आलम ये है कि, केजरीवाल को ‘नास्त्रेदमस’ का पुनर्जन्म मानकर, उनके घर और दफ्तर पर देशभर से लोग अपनी जन्म पत्रियों के साथ भारी तादाद में पहुँच रहे हैं।

हर कोई केजरीवाल से अपना और अपने चहेतों का भविष्य जानना चाह रहा है। भीड़ का अंदाज़ा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि उसे नियंत्रित करने के लिए सी.आर.पी.एफ की तीन टुकड़ी दफ्तर में तैनात करनी पड़ी है।

वहीँ आम आदमी पार्टी मौके को भुनाने से नहीं चूक रही । खबर है कि पार्टी, प्रति-परामर्श फीस तय करने जा रही है। ‘आप’ प्रवक्ता राघव चड्ढा ने खबर की पुष्टि करते हुए बताया कि, “ देखिये, हम अपने लिए फीस नहीं ले रहे, ये तो ‘दान’ है, लोक-कल्याण के लिए! वैसे भी बार-बार चंदा माँग कर हम थक चुके थे। कम से कम जो जमानतें जब्त हुई हैं उनका खर्चा तो निकले!” -राघव ने इक्यावन रुपये की पर्ची फाड़ते हुए कहा।

पूरे मामले पर जब फ़ेकिंग न्यूज़ ने अरविंद केजरीवाल की राय जाननी चाही, तो उन्होंने कहा कि, ”ये फीस वाली बात मुझे नहीं पता, मैं इसकी जाँच करवाऊंगा! रहा सवाल भविष्यवाणी का, तो मैं आई.आई.टी का औसत छात्र रहा हूँ, मैंने तो प्रोबबिलिटी लगाई थी, सबने भविष्यवाणी समझ ली, इसमें मेरी क्या गलती है?”



ऐसी अन्य ख़बरें