Wednesday, 26th June, 2019

चलते चलते

राहुल गाँधी ने हार की वजह पूछी तो पार्टी नेताओं ने भेंट कर दिया 'आईना'

10, Jun 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. अगर अमेठी की हार से भी राहुल गाँधी के समर्थकों का दिल नहीं भरा है तो उनके लिए एक और शर्मनाक किस्सा हुआ है। लोकसभा चुनाव हारने के बाद राहुल गाँधी ने चार लोगों की एक स्पेशल टीम को अमेठी भेजा था, ताकि वो पता लगा सकें कि आखिर उनकी हार की वजह क्या थी? अब उसी टीम ने अपनी रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष को सौंप दी है।

Rahul-Gandhi-Hug
आईने के सामने राहुल गाँधी

दो हफ़्ते के सघन अमेठी दौरे के बाद यह टीम कल शाम को ही दिल्ली पहुँची है, जब वे रिपोर्ट सौंपने राहुल के घर पहुँचे तो उनके हाथों में कोई डायरी या रजिस्टर वगैरह नहीं था, बल्कि एक हरे रंग का लिफ़ाफ़ा था, जिसमें ‘आईना’ लिपटा हुआ था।

‘आखिर इस आईने का क्या रहस्य है?’ यह जानने के लिए हमने पूर्व कांग्रेसी मंत्री एके ऐंटॉनी से बात की, उन्होंने बताया कि, “राहुल जी बड़ी बेसब्री से फैक्ट-फाइंडिंग टीम का इंतज़ार कर रहे थे, जैसे ही टीम कार से उतरी हमने देखा कि उनके हाथों में एक मोटा लिफ़ाफ़ा है, हमें लगा कि शायद उस उसमें CD या पेनड्राइव होगी लेकिन जब राहुल जी ने लिफाफा खोलकर देखा तो अंदर से एक ‘मिरर’ निकला!

अध्यक्ष जी इस ‘आईने’ का गूढ़ रहस्य समझ नहीं पा रहे थे, जब मैंने उन्हें विस्तार से समझाया तो वो गुस्से में आ गये, उन्होंने आईना वहीँ फर्श पर फ़ेंक दिया और अंदर चले गये!” -एंटोनी ने आगे बताया।

हमने अमेठी से लौटे उस टीम के एक सदस्य से भी बात करी, जिन्होंने बताया कि, “हम जहाँ भी जाते, लोग राहुल जी के मज़ाकिया बातों की शिकायत किया करते थे! हम टॉपिक कहीं भी ले जाएँ वो घूम-फिरकर जोक्स वगैरह पर ही ले आते थे! इतने से हम समझ गए कि राहुल जी की हार के ज़िम्मेदार, और कोई नहीं बल्कि ख़ुद राहुल जी ही हैं!

“यह बात हम अध्यक्ष जी को उनके मुँह पर तो नहीं बता सकते ना, इसलिए हमने उन्हें आईना भेंट कर दिया! हमारे अध्यक्ष जी समझदार हैं, समझ गये होंगे!” -वो ऐसा कह ही रहे थे कि एक आदमी अंदर से आया और उन्हें एक लेटर पकड़ाकर चला गया। जब हमने उनसे पूछा कि लेटर में क्या लिखा है, तो उन्होंने मायूसी से जवाब दिया कि, “अध्यक्ष जी ने मुझे पार्टी से निकाल दिया है!”



ऐसी अन्य ख़बरें