Tuesday, 31st March, 2020

चलते चलते

'हमारी लड़ाई NOTA से है!' -एग्जिट पोल आने के बाद राहुल गाँधी ने भरी हुँकार

04, Feb 2020 By Ritesh Sinha

एजेंसी. दिल्ली में चुनाव अभियान की शुरुआत करते हुए राहुल गाँधी ने सरिता विहार में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए दावा किया था कि उनकी लड़ाई ‘आप’ और ‘भाजपा’ से नहीं बल्कि ‘NOTA’ के बटन से है। दरअसल, राहुल गाँधी को शक है कि कहीं उनकी पार्टी, दिल्ली में ‘नोटा’ से भी ना पिछड़ जाए इसीलिए उन्होंने अभी से कार्यकर्ताओं में जोश भरना शुरू कर दिया है। उन्होंने जनता से अपील की है कि कांग्रेस पार्टी को ‘नोटा’ के खिलाफ भारी मतों से विजयी बनावें!

Rahul-Gandhi-1-GF
‘नोटा’ को हराना है भैया!

एग्जिट पोल आने के बाद उन्होंने हमसे बात की और अपनी बात दोहराई है- “देखिए! आजकल हर चुनाव में बहुत से वोटर ‘NOTA’ का बटन दबाकर चले आते हैं, हालाँकि इसे दबाने से कोई फायदा नहीं होता भैया, फिर भी लोग ना जाने क्यों नोटा पर ही हाथ साफ़ कर देते हैं!

इस बार दिल्ली में भाजपा और आम आदमी पार्टी को हराने से पहले हमें ‘नोटा’ को हराना पड़ेगा! काम मुश्किल है लेकिन हम पीछे नहीं हटेंगे भैया! कांग्रेस पार्टी नफरत की नहीं बल्कि प्यार की राजनीति में विश्वास रखती है और हम ‘प्यार’ से ही नोटा को हराएंगे! ‘NOTA’ वालों को दिखा देंगे कि हम किस मिट्टी से बने हैं!” -राहुल ने हुंकार भरी।

मोदीजी ने आज तक ‘नोटा’ के खिलाफ एक शब्द नहीं कहा है और ना ही केजरीवाल ने इसकी निंदा की है, इससे साबित होता है कि ये दोनों ‘नोटा’ से मिले हुए हैं, सब मिले हुए हैं जी! (हँसते हुए)  ये तो केजरीवाल का डायलॉग हो गया… खैर कोई बात नहीं, भावनाओं पर ध्यान दीजिये शब्दों पर नहीं!

हर बूथ पर भारी मतदान हुआ है, हमारे प्रत्याशी ‘नोटा’ को हरा देंगे ऐसा मुझे पूरा यकीन है! देखते हैं क्या होता है?” – कहते हुए राहुल गाँधी पार्टी नेताओं से रिपोर्ट लेने चले गए।



ऐसी अन्य ख़बरें