Wednesday, 22nd May, 2019

चलते चलते

चुनाव आयोग हुआ सख़्त! विवादित बयान देने वाले नेताओं को घर में घुसकर देगा नोटिस

18, Apr 2019 By Fake Bank Officer

नयी दिल्ली. आचार संहिता लागू होने के बाद भी नेताओं के ऊल-जलूल बयान लगातार जारी हैं। चुनाव आयोग को डर है कि यदि अब भी कुछ नहीं किया तो उसकी हालात भी वैसी ही हो जाएगी, जैसी UPA के समय मनमोहन सिंह की थी। चूंकि सुप्रीम कोर्ट की फटकार ने चुनाव आयोग की आंखे खोल दी हैं, इसलिए उसने आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के ख़िलाफ़ और भी कड़ी कार्यवाही करने का फैसला कर लिया है।

cec-sunil-arora
हाथ से सख़्ती दिखाते मुख्य निर्वाचन आयुक्त

चुनाव आयोग के वकील जगदीश उर्फ जॉली एलएलबी ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “सुप्रीम कोर्ट ने आयोग को उसकी शक्तियों का अहसास कराया है। कोर्ट ने ही हमको समझाया कि आयोग और कुछ ना सही तो कम से कम कड़ी निंदा तो कर ही सकता है। कड़ी निंदा करने का अधिकार तो आयोग को संविधान में भी मिला है।”

वैसे तो हमें उम्मीद है कि ज़्यादातर नेता कड़ी निंदा से ही सुधर जाएंगे पर जो नहीं सुधरेंगे, उनको आयोग घर में घुसकर नोटिस देगा। एक-एक नेता के घर में घुसकर उनको नोटिस दिया जाएगा और पावती ली जाएगी।” -जॉली ने गुटका थूकते हुए बताया।

चुनाव आयोग की इस सख़्ती से नेताओं में हड़कंप मच गया है। कई नेताओं का कहना है कि अब वो भद्दे बयान और माँ-बहन की गालियाँ भाषणों में नहीं बल्कि अपने ट्विटर अकाउंट से देंगे और बाद में लफड़ा होने पर बोल देंगे कि अकाउंट हैक हो गया था। वहीं, कुछ नेताओं ने यह काम अपने कार्यकर्ताओं को आउटसोर्स कर दिया है। समाचार लिखे जाने तक आयोग की कड़ी निंदा से चार छुटभैये नेताओं का हृदय परिवर्तन हो चुका था।



ऐसी अन्य ख़बरें