Sunday, 16th June, 2019

चलते चलते

टिकट तो कोई देता नहीं, बस रेस्पेक्ट कर रहे हैं: विपक्षी दलों पर बरसे आडवाणी

06, Apr 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. जब किसी को अपनी जिंदगी में मान-सम्मान मिलता है तो वो बंदा/बंदी खुश हो जाती है लेकिन भाजपा के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी के साथ ऐसा नहीं है। वो खुद को मिल रहे सम्मान से खुश नहीं हैं। उनका कहना है कि ‘टिकट तो कोई देता नहीं, बस रेस्पेक्ट किये जा रहे हैं, इस रेस्पेक्ट का क्या मैं अचार डालूँ?’

Advani2
विपक्षी दलों पर बरसते आडवाणी जी

दरअसल, जब से चुनावों का ऐलान हुआ है आडवाणी जी की रेस्पेक्ट करने वालों की संख्या तेज़ी से बढ़ गई है। राहुल गाँधी, तेजस्वी, केजरीवाल, शत्रुघ्न, चंद्रबाबू और अखिलेश जैसे नेता यह घोषित कर चुके हैं कि वो उनकी बहुत इज़्ज़त करते हैं। आडवाणी जी का सहारा लेकर सभी विपक्षी नेताओं ने मोदी पर हमला बोल रक्खा है। हालाँकि, यह बात आडवाणी जी को जरा भी पसंद नहीं आई है।

फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, “मुझे इतने ‘रेस्पेक्ट’ की आदत नहीं है, ऐसे-ऐसे लोग मेरा सम्मान कर रहे हैं जो पहले मुझे ‘नमस्ते’ भी नहीं किया करते थे! अगर इतना ही प्यार उमड़ रहा है तो मुझे किसी सीट से टिकट देकर निर्विरोध विजयी घोषित क्यों नहीं कर देते ये विपक्ष वाले!”

“बेगूसराय से ही दे दो, लेकिन नहीं देंगे मुझे मालूम है! तेजप्रताप यादव तक मेरी इज़्ज़त कर रहा है, क्या यही दिन देखना बाकी रह गया था?” -आडवाणी जी ने धीरे से कहा।

विपक्षी दलों को गरियाने के बाद आडवाणी जी ने तोप का मुँह अपनी पार्टी की ओर किया और बरस पड़े- “मैंने कुछ कहा ही नहीं और उन लोगों ने मान लिया कि मैं चुनाव नहीं लड़ना चाहता हूँ! हमेशा ऐसा ही करते हैं, अपने ही मन से ‘मान’ लेते है कि मैं क्या चाहता हूँ! अब तो आदत सी पड़ गई है!”



ऐसी अन्य ख़बरें