Saturday, 26th May, 2018

चलते चलते

राज्यपाल की निगरानी में होगी जेडीएस विधायकों की नीलामी, IPL कमेटी की लेंगे मदद

16, May 2018 By Fake Bank Officer

बंगलुरु. कर्नाटक चुनाव नतीजो के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि सरकार बनाने में जेडीएस के विधायकों की भूमिका अहम रहेगी। ऐसे में बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही उन्हें अपनी और खीचने में अपनी जान झोंक दी है। लेकिन कुमारस्वामी ने साफ़ कर दिया है कि वो सिर्फ़ मुख्यमंत्री बनने के लिये किसी भी पार्टी को समर्थन नही देंगे बल्कि जो उनके विधायको की सही कीमत देगा, उसी से हाथ मिलाएंगे।

karnataka-governor-vajubhai
हालात पर नज़र रखे हुए राज्यपाल वजुभाई वाला जी

जेडीएस नेता की चिंताओं को ध्यान में रखते हुए कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई ने आश्वासन दिया है कि वो अपनी निगरानी में एकदम पारदर्शी तरीके से सभी विधायकों की नीलामी कराएँगे। राज्यपाल महोदय ने यह भी बताया कि यह नीलामी उनके निवास स्थान पर होगी और इसमें बीजेपी और कांग्रेस दोनों को बोली लगाने का बराबर मौक़ा दिया जाएगा। “हमने निर्दलीय उम्मीदवारों को नीलामी में बिकने या खरीदने के लिए शामिल होने का विकल्प दिया है।” -महामहिम ने फ़ेकिंग न्यूज़ से ख़ास बातचीत में कहा।

राजभवन सूत्रों के अनुसार, नीलामी को सफ़ल बनाने के लिए आईपीएल कमेटी की मदद भी ली जा रही है। राज्यपाल ने यह स्पष्ट कर दिया है कि बिकने वाले विधायकों की व्यक्तिगत या राजनैतिक  विचारधारा कोई मायने नहीं रखती और वे खरीदार दल की विचारधारा का पूरी श्रद्धा और निष्ठा से पालन करेंगे। साथ ही एक बार बिके हुए विधायक वापस नही होंगे चाहे खरीदार पार्टी की सरकार बने ना बने।

इस बारे में जब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से बात की गई तो उन्होंने राज्यपाल के फ़ैसले का स्वागत किया लेकिन साथ ही नीलामी की उस शर्त पर आपत्ति जताई, जिसमें लिखा गया है कि नीलामी में पार्टी के खर्च की अधिकतम सीमा राज्यपाल तय करेंगे। “पैसे की कमी कांग्रेस को है, हमें नही! जब हम चार-पाँच हज़ार करोड़ रुपये मोदी जी के विज्ञापनों पर फूँक सकते हैं तो आठ-दस विधायक खरीदने में 100-200 करोड़ की कंजूसी क्यों करें!” -यह कहकर वो राज्यपाल से मिलने चल दिये।



ऐसी अन्य ख़बरें