Saturday, 22nd September, 2018

चलते चलते

ममता बैनर्जी ने देखा भयानक सपना, राहुल गाँधी ले रहे थे 'प्रधानमंत्री' पद की शपथ

24, Jul 2018 By Ritesh Sinha

कोलकाता. खबर मिली है कि टीएमसी सुप्रीमो ममता बैनर्जी ने कल रात को एक भयानक सपना देखा है। ‘सपना’ इतना भयानक था कि वह आधी रात को ही चौंककर उठ गईं और उसके बाद से उन्हें जरा भी नींद नहीं आई। उन्होंने देखा कि राहुल गाँधी प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे हैं, और उनके बगल में सोनिया गाँधी बैठकर मुस्कुरा रही हैं। उधर, कांग्रेसी कार्यकर्ता भी जश्न में ढोल-नगाड़े बजा रहे हैं।

mamta
सपना देखने के बाद दहशत में दीदी

तभी उन्होंने सपने में ही अपने आप को खोजना शुरू कर दिया कि वो कहाँ हैं? शपथ ग्रहण समारोह में हैं भी या नहीं? दस मिनट तक इधर-उधर दौड़ने के बाद उन्होंने देखा कि शपथ लेने वालों की लिस्ट में उनका भी नाम है।

उन्हें राहुल गाँधी ने मंत्री के रूप में ‘अल्पसंख्यक मंत्रालय’ पकड़ा दिया है। हद तो तब हो गई जब शपथ ग्रहण के बाद सोनिया जी ने उनसे कहा कि “खाना-वाना खाकर ही जाना!” बस, यह भयानक सपना वो इससे आगे नहीं देख पाई और जोर से “नहीं…!” चीखते हुए नींद से जाग गई। जब उन्हें पता चला कि ये तो महज़ एक सपना था, तब जाकर उन्होंने राहत की साँस ली।

आज सुबह फेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए ममता दीदी ने बताया कि “इतने भयानक सपने तो मुझे कम्युनिस्ट-युग में भी नहीं आते थे! क्या बताऊँ! इतनी डरावनी तो मेरी पेंटिंग्स भी नहीं होतीं! मैं क्या देखती हूँ कि राहुल गाँधी सीधे प्रधानमंत्री बन गए हैं और मुझे सिर्फ एक मंत्रालय का झुनझुना पकड़ा दिया है! ऐसा कैसे हो सकता है? मैं ऐसा होने नहीं दूंगी! प्रधानमंत्री तो मैं ही बनूँगी!”

हालाँकि, ममता दीदी ने यह बताने से इनकार कर दिया कि उन्होंने यह सपना एक-दो बजे के आसपास देखा था, या सुबह पांच-छः बजे के आसपास! उन्होंने सिर्फ इतना कहा “तुझे इससे क्या लेना-देना!”

“अच्छा ये बताइए सपने में और कौन-कौन लोग थे?” -ऐसा पूछे जाने पर उन्होंने अपना सर पकड़ लिया और जोर देकर याद करने लगीं “पवार साब हैं, तेजस्वी है, अखिलेश हैं, मायावती जी  भी हैं! अच्छा ये कौन है… ये तो रामविलास पासवान हैं! ये यहाँ क्या कर रहा है? बेड़ा गर्क!” -कहते हुए एक बार फिर वो “नहीं….!” चीख पड़ीं।



ऐसी अन्य ख़बरें