Friday, 10th April, 2020

चलते चलते

'IPL की तरह खुले में होगी एमपी के विधायकों की नीलामी', सुप्रीम कोर्ट का आदेश

17, Mar 2020 By बगुला भगत

भोपाल. मध्य प्रदेश में कई दिनों से परदे के पीछे चल रही विधायकों की सौदेबाज़ी से तंग आकर सुप्रीम कोर्ट ने आज एक एतिहासिक फ़ैसला सुना दिया। कोर्ट ने सारे विधायकों की नीलामी खुले में करने का आदेश दिया है और कहा है कि यह नीलामी विधानसभा में आईपीएल की तरह ही आयोजित की जाये।

MP-MLA-Auction
खुले में लगेगी बोली

चीफ़ जस्टिस बोबड़े ने सारे पक्षों की याचिकाओं पर सुनवाई करने के बाद यह आदेश दिया। माननीय न्यायाधीश ने कहा कि लोगों को पता ही नहीं चल पा रहा है कि विधायकों का रेट क्या चल रहा है। खुली बोली लगने से उनके रेट में पारदर्शिता आयेगी और कोई भी विधायक अपना रेट अनाप-शनाप नहीं बता सकेगा और इससे खरीदारों को भी आसानी रहेगी।

माननीय कोर्ट ने कहा कि हमने यह क़दम नेताओं की ख़रीद-फ़रोख़्त में एकरूपता लाने के लिए उठाया है। अभी कोई नेता अपना रेट 10 करोड़ बता रहा है तो कहीं कोई उसी काम के लिए 50 करोड़ माँग रहा है। कोई नियम-क़ायदा है ही नहीं! किसी विधायक को पैसे के साथ मंत्री पद भी चाहिए तो कोई कमेटी का मेंबर बनने पर ही बिकने को तैयार है।

इसलिए कोर्ट ने इस प्रक्रिया को सिस्टेमेटिक बनाने का फ़ैसला किया है। खुली नीलामी होगी तो सामने वाली पार्टी को भी पता रहेगा कि अपोजिशन वाला नेता क्या ऑफ़र कर रहा है। फिर उसी हिसाब से वो अपना रेट घटा-बढ़ा सकता है।

कोर्ट ने इस ‘एमएलए-ऑक्शन’ के लिए आईपीएल के पूर्व नीलामी-संचालक रिचर्ड मैडली का नाम फ़ाइनल कर दिया है। कोर्ट का कहना है कि मैडली को नीलामी कराने का बहुत लंबा एक्सपीरिएंस है और वो दो साल से खाली भी बैठे हैं क्योंकि आईपीएल ने उनकी जगह पे नया बंदा रख लिया है।



ऐसी अन्य ख़बरें