Wednesday, 19th December, 2018

चलते चलते

केजरीवाल के घर भेजा गया जिंदा कारतूस सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत था: संबित पात्रा

27, Nov 2018 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. अरविंद केजरीवाल से मिलने आए एक शख्स के पास से पुलिस ने जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। इस घटना के तुरंत बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आरोप लगाना शुरू कर दिया कि अगर प्रधानमंत्री मोदी एक मुख्यमंत्री को सुरक्षा नहीं दे सकते तो उन्हें इस्तीफ़ा दे देना चाहिए। अब इस घटना में एक नया मोड़ आ गया है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने दावा किया है कि वो कारतूस मोदी जी ने ही भिजवाया था, सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत के तौर पर!

sambit
मीडिया को जानकारी देते संबित

इस मसले पर बात करते हुए उन्होंने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि, “देखिए! आपको याद होगा कि कैसे केजरीवाल जी उछल-उछलकर सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत माँग रहे थे, आज मोदी जी ने सबूत भेज दिया तो डर गए? ये वही कारतूस है जिसे जवान सीमा पार ले गए थे! आज वही बुलेट मोदी जी ने दिल्ली की जनता के सामने रख दिया है, बताइए कुछ गलत किया है क्या?” -कहते हुए उनकी आँखों से शरारे निकलने लगे।

“..लेकिन सबूत भेजने का आईडिया इतने दिनों बाद कैसे आया?” -ऐसा पूछे जाने पर पात्रा ने आगे बताया कि, “दरअसल, इसमें मोदी जी की गलती नहीं है, उन्होंने मुझे ये बहुत पहले भेज देने के लिए कहा था और मैं भूल गया! वो क्या है ना, बहुत बिजी रहता हूँ मैं!”

“कुछ दिनों पहले जब अलवर की रैली में मोदी जी ने फिर से सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र किया तब मुझे याद आया कि मुझे तो केजरीवाल जी के यहाँ ‘माल’ भेजना है! बस, मैं उनके बंगले के लिए सबूत लेकर निकला ही था कि ये जनाब रास्ते में मिल गए! उन्होंने बताया कि मैं भी केजरीवाल के बंगले में उनसे मिलने जा रहा हूँ, इसलिए मैंने वो सबूत उनकी पर्स में डाल दिए और कहा कि मुख्यमंत्री जी को दे देना!” -पात्रा ने पूरी कहानी साफ़-साफ़ बता दी।

जब हमने उनसे पूछा कि मिर्ची पाउडर भी क्या आपने ही भेजा था? -तो संबित ने साफ़ इनकार कर दिया। उन्होंने कहा- “मिर्ची पाउडर की एजेंसी नहीं है मेरे पास! (फिर कुछ सोचकर बोले) इस टाइप की हरकत नहीं होनी चाहिए, हम इसकी घोर निंदा करते हैं!” इस वाक्य से स्पष्ट है कि संबित जी कभी-कभार ‘सोचकर’ भी बोल लेते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें