Thursday, 18th July, 2019

चलते चलते

केजरीवाल को बचपन में स्कूल में भी इतने थप्पड़ नहीं लगे थे जितने राजनीति में आने के बाद पड़े हैं: RTI

08, May 2019 By Gaurav Mittal

नयी दिल्ली. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाल ही में एक व्यक्ति ने चुनाव प्रचार के दौरान थप्पड़ मार दिया। अब ये हर चुनाव में आम बात हो गयी है, जब-जब चुनाव होता है तब-तब केजरीवाल जी के साथ ऐसा हो जाता है। केजरीवाल जी इतने ‘आम’ हो गए हैं कि कोई भी आम आदमी उन्हें थप्पड़ मार के चला जाता है।

Kejriwal-Holi
गाल पर हाथ रखकर बचाव की मुद्रा

जैसे क्रिकेट में इंज़माम उल हक़ के नाम सबसे ज्यादा रन आउट होने का कीर्तिमान है, वैसे ही केजरीवाल के नाम चुनाव में सबसे ज्यादा थप्पड़ खाने का रिकॉर्ड दर्ज़ हो गया है।

केजरीवाल के थप्पड़ों का हिसाब-किताब जानने के लिए किसी ने RTI डाल कर दिल्ली सरकार से ये पूछ लिया कि मुख्यमंत्री जी को आज तक कितने थप्पड़ पड़े हैं?

इसके जवाब में दिल्ली सरकार ने आंकड़े तो नहीं दिए बस इतना बताया कि उन्हें बचपन में स्कूल में भी इतने थप्पड़ नहीं पड़े थे जितने राजनीति में आने के बाद पड़े हैं। ये काफी चौंकाने वाला खुलासा है क्योंकि स्कूल में अध्यापक लोग अपनी हथेली से चॉक साफ़ करने के लिए किसी को भी चमाट मार देते थे।

कांग्रेस ने थप्पड़ कांड पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि “कांग्रेस तो गाँधीजी के रास्ते पर चलती है, अगर केजरीवाल जी को इस हिंसा का जवाब देना है तो अपना दूसरा गाल भी आगे कर देना चाहिए!”  वहीं भाजपा ने इसे ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ बताया है।

जैसे क्रिकेट में पहले स्विच-हिट नहीं होता था वैसे ही भारत की राजनीति में नेता लोगों को पहले कोई छूता भी नहीं था, उनकी सिर्फ आलोचना होती थी। लेकिन केजरीवाल तो राजनीति बदलने आये थे, इसलिए राजनीति में थप्पड़ लाने का श्रेय उन्हीं को जाता है। अब वो दिन दूर नहीं जब नेता लोग अपना प्रचार हेलमेट लगा कर किया करेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें