Saturday, 17th November, 2018

चलते चलते

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भी बदला अपना सरनेम, केजरीवाल हटाकर लगा लिया 'मोदी'

30, Aug 2018 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री बनने की तैयारी शुरू कर दी है, पहला और ठोस कदम उठाते हुए उन्होंने अपने नाम के आगे मोदी लगा लिया है। दरअसल, उनसे किसी ने कह दिया था कि ‘तुम्हारे नाम में वजन नहीं है, पहले कुछ वजन पैदा करो! नेहरू, गाँधी या फिर कुछ ‘मोदी’ जैसा सरनेम हो तभी कुछ बात बन सकती है!’ यह सुनकर केजरीवाल को भी जोश आ गया, उन्होंने तुरंत अपने नाम से ‘केजरीवाल’ उखाड़कर फ़ेंक दिया और उसकी जगह ‘मोदी’ चिपका लिया। आज से उन्हें अरविंद मोदी के रूप में जाना व पहचाना जाएगा!

सरनेम बदलने के बाद खुश अरविंद मोदी
सरनेम बदलने के बाद खुश अरविंद मोदी

वैसे अरविंद मोदी के लिए यह खेल नया नहीं है। इससे पहले भी वो चुनावों को ध्यान में रखते हुए अपनी ही सरकार के एक मंत्री का सरनेम हटवा चुके हैं, ताकि दिल्ली वालों को कोई गलतफहमी ना हो! हालाँकि, वो अभी भी यह दावा कर रहे हैं कि मैं जात -पात के खिलाफ हूँ!

इस बारे में हमने खुद अरविंद मोदी जी से बात की। “आप तो राजनीति बदलने आए थे, क्या हुआ?” -ऐसा पूछे जाने पर अरविंद मोदी ने अपनी सफाई में कहा कि “देखिये जी! ये मैं अपने लिए नहीं कर रहा हूँ, मुझे कोई शौक नहीं है ये सब करने का! हम देश बदलना चाहते हैं जी, और देश बदलने के लिए पहले ‘सरनेम’ बदलना जरूरी होता है, इसलिए हमने अपने नाम के आगे ‘मोदी’ सरनेम जोड़ दिया!”

“जैसे बॉलीवुड में सक्सेज होने के लिए ‘कपूर’ सरनेम होना जरूरी होता है, वैसा ही कुछ मामला इधर भी है! कुछ साथियों ने कहा कि ‘नेहरू’ लगा लो, कुछ लोगों ने कहा कि ‘गाँधी’ लगा लो, लेकिन मैंने मोदी को ही पसंद किया, क्योंकि मेरा मुक़ाबला तो मोदीजी से ही है ना! नेहरू जी से नहीं!” -मोदी जी ने आगे बताया।

उधर, जैसे ही यह खबर भाजपा के प्रवक्ताओं को पता चली तो वे आग-बबूला हो उठे। संबित पात्रा ने नाक फुलाते हुए कहा कि “उनकी हिम्मत कैसे हुई मोदीजी का सरनेम चुराने की! अब तो हम उन्हें ठीक से गरिया भी नहीं सकेंगे!”



ऐसी अन्य ख़बरें