Friday, 10th April, 2020

चलते चलते

भाजपा में आकर सबसे पहले इतिहास की किताबों से 1857 वाला चैप्टर हटवाएंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया

19, Mar 2020 By Fake Bank Officer

भोपाल. भाजपा को जॉइन करने के साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उन कामों की सूची बना ली है जो वो काफी समय से करना चाह रहे थे। इसमें राज्यसभा में जाना,  कैबिनेट मंत्री बनना और अपना ट्विटर अकाउंट डिलीट करना तो शामिल है ही.. पर उससे भी ज्यादा, इतिहास की किताबों से 1857 वाला स्वतंत्रता संग्राम चैप्टर हटाना उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है।

jyotiraditya
कुछ तो करना पड़ेगा!

फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए सिंधिया ने बताया कि- “1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में सिंधिया परिवार की भूमिका को लेकर सब मुझे चिढ़ाते आ रहे हैं, जब मैं कांग्रेस में था तो भाजपा वाले मजा लेते थे और अब कांग्रेस का IT सेल यही काम कर रहा है!

सन् 1857 में अंग्रेजों का साथ देने की वजह से हमारी और ज्यादा फ़ज़ीहत ना हो इसलिए मैने सोचा है कि सबसे पहले इतिहास की किताब से वो वाला चैप्टर ही हटवा दूंगा! ना रहेगा नौ मन तेल और ना राधा नाचेगी!”

सिंधिया ने आगे बताया कि, “चूँकि ये सरकार वैसे भी देश के इतिहास को बदलने में एक्सपर्ट है तो क्यों ना मैं भी बहती गंगा में हाथ धो ही लूँ! और फिर हमारी गलती ही क्या थी, देश सेवा के लिए ही तो हमने विद्रोह में अपोजिट पार्टी का साथ दिया था, आज भी देश सेवा पहले है, पार्टी बाद में!”

देश सेवा की यह भावना हमने रामविलास पासवान से सीखी है, बस फर्क इतना है कि उनमें देश सेवा की इच्छा चुनाव से पहले जाग जाती है और हमारी चुनाव के बाद!” -इतना बोलते हुए सिंधिया जी अपने पुराने ट्वीट डिलीट करने चल दिये।

इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री बनने की इच्छा भी जताई है ताकि अपनी देख-रेख में कार्यक्रम को अंजाम दे सकें।



ऐसी अन्य ख़बरें