Friday, 19th October, 2018

चलते चलते

राहुल बोले 'शिकंजी बेचने वाले ने कोकाकोला कंपनी बनाई थी', रविशंकर प्रसाद बोले 'चाय बेचने वाले भी नहीं हैं पीछे!'

11, Jun 2018 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राहुल गाँधी ने मोदी सरकार को जमकर कोसा है, उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि “कोकाकोला कंपनी का मालिक पहले शिकंजी बेचता था…मैकडॉनल्ड वाला ढाबा चलाता था! फोर्ड, मर्सेडीज, और होंडा को शुरू करने वाले पहले साधारण मैकेनिक थे, लेकिन मोदी सरकार की नीतियों की वजह से इंडिया में ऐसा नहीं हो पाता! यहाँ का टैलेंट आगे नहीं बढ़ पाता क्योंकि बैंक के दरवाजे ग़रीबों के लिए नहीं खुले हैं!”

ravi shankar prasad
चाय वाले की कहानी बताते रविशंकर प्रसाद जी

राहुल के इस आरोप से बीजेपी में खलबली मच गई। केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद आगे आए और उन्होंने इन आरोपों को निराधार बताया।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष को जवाब देते हुए कहा कि “राहुल बाबा! अगर एक  शिकंजी बेचने वाला कोकाकोला जैसी बड़ी कंपनी बना सकता है, तो चाय बेचने वाले भी ज्यादा पीछे नहीं हैं! उसने तो सिर्फ एक कंपनी बनाई थी, चाय बेचने वाले तो सीधे प्रधानमंत्री बनते हैं, प्रधानमंत्री! हाँ!” -मंत्री जी ने अपना चश्मा ऊपर चढ़ाते हुए कहा।

इसके बाद अचानक मंत्री जी जोश में आ गए और कुर्सी से उछलते हुए बोले- “मैं खुद पहले पटना कचहरी के सामने मूंगफली बेचता था! जेटली जी आजाद मंडी में ‘आढ़ती’ का काम करते थे, तभी से उनमें ‘सेस’ लगाने की आदत समा गई! गडकरी जी पहले गिट्टी सप्लाई किया करते थे! और अपने राजनाथ जी पुलिस के लिए मुखबिरी का काम किया करते थे! हम लोगों की सक्सेस स्टोरी भी किसी से कम नहीं है!”

“राहुल बाबा! आप कहते हो कि बैंक के दरवाजे ग़रीबों के लिए बंद कर दिए गए हैं, तो मैं आपको बता देना चाहता हूँ कि रविवार को बैंक सबके लिए बंद रहते हैं! चाहे अमीर हो या ग़रीब! इसलिए सन्डे को बैंक जाना बंद कीजिए!” -प्रसाद जी ने आगे बताया।

हालाँकि, कांग्रेस पार्टी के अन्य नेताओं ने अपने अध्यक्ष जी के भाषण की जमकर सराहना की है और रविशंकर प्रसाद पर मुद्दे से भटकने का आरोप लगाया है। वहीं, माना जा रहा है कि इतना लंबा-लंबा फेंकने के बदले मंत्री जी को ईनाम के रूप में प्रमोशन भी मिल सकता है।



ऐसी अन्य ख़बरें