Friday, 23rd August, 2019

चलते चलते

साध्वी प्रज्ञा से पाँच साल और मौन व्रत रखवा सकती है भाजपा सरकार

31, May 2019 By Guest Patrakar

 नयी दिल्ली. मोदी सरकार ने शानदार वापसी करते हुए चुनावों में रिकॉर्ड जीत दर्ज़ की है और अभी से 2024 की तैयारी में जुट गई है। सूत्रों की मानें तो अमित शाह ने अभी से अपने बड़बोले नेताओं को ‘क्या करना है?’ और ‘कैसे करना है?’ सिखा दिया है। इसमें सबसे ऊपर नाम आता है साध्वी प्रज्ञा का! शाह ने साध्वी प्रज्ञा को अपना मौन व्रत 2024 तक जारी रखने का आदेश दिया है।

Pragya-Thakur
चुप रहने के लिए हाथ जोड़ते शाह

हमने इस बारे में सीधे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से बात करी, उन्होंने कहा कि, “हम 2019 तो जीत गए हैं लेकिन हमें आगे और भी बहुत से चुनाव जीतने हैं, इसलिए हम चाहते हैं कि साध्वी प्रज्ञा पाँच और साल मौन व्रत धारण कर ले! इस से उनकी साधना भी हो जाएगी और हमें उनके बयानों का खंडन भी नहीं करना पड़ेगा!”

मैं इसके साथ-साथ बाक़ी नेताओं को भी मीडिया के सामने चुप रहने की अपील करता हूँ! क्योंकि इतनी बड़ी जीत के बाद पूरी दुनिया की नज़रें हम पर टिकी हुई हैं, ऐसे में इन लोगों ने कुछ ऊँच-नीच कर दिया तो मुझे और मोदीजी को जवाब देना पड़ जाएगा!” -शाह ने आगे बताया।

उधर, कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता भी राहुल गाँधी को भी कुछ ऐसा ही करने की सलाह दे रहे हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद ने सोनिया गाँधी को चिट्ठी लिख कर कहा है कि, “जैसे भाजपा, साध्वी प्रज्ञा को मौन व्रत रखवा रही है वैसे ही हमें भी सैम पित्रोदा और मणिशंकर अय्यर को मौन व्रत पर डाल देना चाहिए! ज़रूरत पड़े तो चुनाव के समय राहुल बाबा भी चुप ही रहें, तब जाकर हम सत्ता में वापसी कर पाएँगे, वरना जब तक वो बोलते रहेंगे मोदी बिना कुछ करे चुनाव जीतता रहेगा!”

साध्वी तो अमित शाह की बात मान लेंगी लेकिन क्या कांग्रेस, राहुल, मणिशंकर और सैम पित्रोदा को रोक पाएगी?



ऐसी अन्य ख़बरें