Wednesday, 27th March, 2019

चलते चलते

लोगों को टेंशन देने में हमें मज़ा आता है इसलिए करवाते हैं रविशंकर प्रसाद से प्रेस-कॉन्फ्रेंस: बीजेपी ने कबूला

06, Mar 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आखिरकार स्वीकार कर ही लिया है कि रविशंकर प्रसाद को प्रेसवार्ता में भेजने का एकमात्र उद्देश्य लोगों को टेंशन देना होता है। शाह जी ने कहा कि ऐसा करने में उनकी पार्टी को बहुत मज़ा आता है, लोगों को टॉर्चर करने का यह सबसे आसान और सुरक्षित तरीका है।

ravi-shankar-prasad-anger
लोगों को टेंशन देते मंत्री जी

साथ ही शाह जी ने यह भी खुलासा किया कि जिस दिन पब्लिक को ज्यादा टेंशन देने का मन करता है उस दिन वो प्रकाश जावड़ेकर को प्रेस-कॉन्फ्रेंस में भेज देते हैं।

फ़ेकिंग न्यूज़ से विशेष बातचीत में शाह ने कहा कि “देखिए! रविशंकर जी कोई जरूरी सूचना लेकर तो जाते नहीं हैं क्योंकि उनकी गाड़ी ‘आधार-कार्ड’ से आगे बढ़ती ही नहीं है!”

या फिर ज्यादा से ज्यादा राहुल गाँधी को गरिया कर चले आते हैं! फिर भी हम उन्हें प्रेसवार्ता में भेजना नहीं छोड़ते क्योंकि हमारा लक्ष्य तो लोगों को टेंशन देना होता है ना!”

“इसके अलावा किसी गंभीर मुद्दों की वॉट लगाने के लिए भी हम उनकी सेवाएँ लेते हैं, जैसे कि एयरस्ट्राइक! इस मुद्दे की उन्होंने खटिया खड़ी कर दी है भैया!” -शाह जी तारीफों के पुल बाँधते चले गए।

“कभी-कभी तो मेरा मन करता है कि ‘चलो! आज सबके दिमाग की दही करता हूँ!’ ऐसे में मैं रवि शंकर जी को पीछे खींचकर प्रकाश जावड़ेकर जी को आगे कर देता हूँ!”

ये भी अपने काम में माहिर हैं, टीवी पर इन्हें देखकर जब लोग अपना माथा पीटते हैं तो मुझे बहुत मज़ा आता है! एयरस्ट्राइक के दिन आपने देखा होगा कि कैसे ‘सेना’ से भी पहले प्रकाश जी ने मीडिया को बाईट देना शुरू कर दिया था!” -शाह जी ने आगे कहा।

“ये मज़ा आप कब तक लेते रहेंगे?” -ऐसा पूछे जाने पर शाह जी भड़क गए और उठकर चलते बने। उधर, अपनी तारीफें सुनकर रविशंकर प्रसाद जी फूले नहीं समा रहे हैं, उन्होंने वादा किया है कि वो अपना काम सौ प्रतिशत ईमानदारी से करते रहेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें