Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

'जी-जी न्यूज़' देखने के बाद संयुक्त राष्ट्र ने JNU को घोषित किया 'आतंकवादी संगठन'

21, Nov 2019 By Fake Bank Officer

न्यूयॉर्क. JNU अब सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि दुनिया में भी सुर्खियाँ बटोर रहा है, संयुक्त राष्ट्र ने भी कई दिनों से JNU से जुड़ी खबरों में काफी दिलचस्पी ली है। सुरक्षा परिषद के कुछ अधिकारियों ने जी-जी न्यूज के DNA की कड़ी रिसर्च से प्रभावित होकर JNU को विश्व के खूंखार आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल कर दिया है। साथ ही ‘संयुक्त राष्ट्र’ ने सभी देशों को अलर्ट जारी कर कहा है कि निर्मला सीतारमण को छोड़कर वो JNU से जुड़े किसी भी व्यक्ति के पास न जाएँ।

क
JNU में कुछ तो हुआ!

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटिनियो श्रीवास्तव ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “हम काफी समय से JNU की गतिविधियों पर नज़र रखे हुए हैं, रिपब्लिक टीवी और जी-जी न्यूज देख कर हमें आईडिया हो गया था कि यह यूनिवर्सिटी सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए ख़तरनाक है!

इसीलिए हमने इसे प्रतिबंधित आतंकी संगठनों की लिस्ट में डाल दिया है। वैसे भी काफी समय से लिस्ट अपडेट नही हुई थी तो इसी बहाने यह काम भी हो जाएगा!”

JNU की इस खबर को भी सबसे पहले जी-जी न्यूज ने ही दिखाया। हालाँकि चैनल ने इस उपलब्धि का क्रेडिट लेने से साफ इंकार कर दिया। एक कार्यक्रम में माध्यम से जी-जी न्यूज ने बताया कि किस तरह JNU ग्लोबल वार्मिंग के लिए भी ज़िम्मेदार है।

आतंकवादी संगठन घोषित होने के बाद अब JNU के छात्रों की सुविधा शुल्क कम करने की माँग को भी भारी झटका लगा है। फीस कम करना तो दूर, अब तो सरकार JNU को बंद करने पर विचार कर रही है।

सरकार नहीं चाहती कि अमेरिकी सेना JNU पर ड्रोन हमला करे और बेकार में ही आस-पास के शहरों को नुकसान पहुँचे।

उधर, पाकिस्तान ने भी दलील दी है कि चूँकि अब भारत भी अपनी जमीन पर आतंकवादियों को ट्रेनिंग दे रहा है इसलिए पाकिस्तान को दोष देना बंद करना चाहिए।



ऐसी अन्य ख़बरें