चलते चलते

अपने ही रिपोर्टर को ठेके की लाइन में लगा देख सुधीर चौधरी ने कर डाला DNA विश्लेषण, ऑन एयर काटी पगार

11, May 2020 By किल बिल पांडे

दिल्ली. पूरे देश में  पियक्कड़ों का डंका बज रहा है, कुछ ही दिनों में, अपनी जान की भी परवाह न करते हुए मधुशाला के इन शूरवीरों ने, देश की अर्थव्यवस्था को कुछ ऐसा संभाला कि बड़े से बड़े अर्थशास्त्रियों को भौंचक्का कर दिया है।

Sudhir-Chaudhary-zee
DNA विश्लेषण करते सुधीर चौधरी \

लेकिन इन लंबी-लंबी कतारों में लगी ‘पियक्कड़ ब्रिगेड’ के एक अति समर्पित सैनिक को अपनी देशसेवा के इस जज़्बे का बहुत बड़ा खामियाज़ा भुगतना पड़ा है।

खबर मिली है कि, ज़ी न्यूज़ के एक पत्रकार मोहित साबूदाना को ठेके की लाइन में लगना, उस समय भारी पड़ गया,  जब उसकी खुद की फुटेज चैनल पर प्रसारित हो गयी। जब यह बात विश्लेषक सुधीर चौधरी को पता चली तो उन्होंने उस निरीह रिपोर्टर को नौकरी से निकाल दिया।

स्वघोषित ‘पुलित्ज़र पुरस्कार’ विजेता सुसुधीर चौधरी ने अपने फर्ज को भावनाओं से प्रभावित होने नहीं दिया। अपनी ज़िम्मेदारी को बखूबी निभाते हुए उन्होंने तुरंत आव देखा न ताव, मोहित का तसल्ली से पूरा विश्लेषण कर डाला।

इस विश्लेषण में, एंकर ने मोहित को आड़े हाथों लेते हुए भारी भरकम बैकग्राउंड म्यूजिक के बीच कहा कि, “आज हम दिल पर पत्थर रख कर, अपने ही रिपोर्टर मोहित साबूदाना की हरकतों का ख़ास विश्लेषण करने जा रहे हैं, यह वही मोहित है, जो कुछ समय पहले इस साल भी इन्क्रीमेंट न लगने के कारण उदास था और उदासी में पैदल ही घर से निकल गया था!

“यानि इसके पास घर जाने के पैसे नहीं थे, लेकिन आज कुछ ही दिनों में ठेके की लाइन में लग कर मदिरा खरीदने की भारी भरकम रकम निकल आई। मतलब ये हुआ कि मोहित ने उस दिन पैदल घर जाकर हमें इमोशनली ब्लैकमेल किया था, इस किस्म कि असंवेदनशील हरकत बर्दाश्त के बाहर है, इसलिए आज हमने कड़ा रुख अपनाते हुए ‘ऑन एयर’ ही मोहित की पगार काट दी है!” -कहते हुए वो बैकग्राउंड म्यूजिक के बीच गायब हो गए।

इस बीच मोहित ने फ़ेकिंग न्यूज़ को अपना पक्ष बताते हुए कहा है कि “अरे! मैं खुद अपने बॉस के कहने पर ही लाइन में लगा था, उन्होंने ही कहा था कि- “जाओ इन पियक्कड़ों की बाईट लेकर आओ!” अब इतनी देर से लाइन में खड़ा था तो मेरा भी मन कर गया,  इसलिए मैंने भी समय का सदुपयोग करते हुए दो बोतल खरीद मारी!

विश्लेषण करने के लिए मिले नये टॉपिक के चक्कर में लगता है बॉस यह बात बात भूल गए। कोई बात नहीं, अब तो आदत सी है ऐसे जीने में, कौनसा पहली बार हुआ है!” -कहते हुए  मोहित आइस क्यूब खरीदने चला गया।



ऐसी अन्य ख़बरें