Friday, 10th April, 2020

चलते चलते

सुधीर चौधरी ने की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की तो सरकार ने घटा दी सुरक्षा, कहा- "खुद किया है, खुद भुगतो!"

18, Feb 2020 By किल बिल पांडे

नयी दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल्स के नतीजे सामने आते ही बहुत से न्यूज़ चैनलों में मातम पसरा हुआ था, बहुत से पत्रकार बेमन से अनुमानित सीटों की जानकारी दे रहे थे। इन सब से अलग ‘विश्लेषण एक्सपर्ट’ सुधीर चौधरी इन आंकड़ों का सदमा बर्दाश्त करने में पूरी तरह असफल नजर आये।

Sudhir-Chaudhary-Angry
विश्लेषण करते एंकर महोदय

आंकड़ों के सैलाब में सुधीर इस कदर बह गए कि अपनी जज्बातों पर काबू ही नहीं रख सके, प्राइम टाइम पर उन्हीं दिल्लीवालों के नुख्स निकालने लगे जिन्होंने लोकसभा चुनावों में एकतरफा मतदान किया था। लेकिन, इमोशनल हो कर की गयी यही हरकत अब सुधीर चौधरी के गले की फाँस बनती नजर आ रही है।

दरअसल, दिल्ली चुनाव के नतीजों का विश्लेषण करते हुए वो कुछ ज्यादा ही सैंटी हो गए थे, बाद में उनकी जमकर खिंचाई भी हुई थी, लोगों में काफी आक्रोश देखा गया था, इसी आक्रोश की भनक लगते ही उन्होंने सरकार से अपनी सुरक्षा बढ़ाने की मांग कर दी थी।

सरकार ने भी तत्काल कार्रवाई करते हुए सुरक्षा बढ़ाने की बजाय घटाते हुए चार बिलांग और छोटी कर दी है। इस घटना ने सुधीर के खौफ़ के महायज्ञ में घी का काम किया है। इससे पहले वो कुछ पूछ पाते, सरकारी प्रवक्ता अपूर्ण जोशी ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी देते हुए कहा कि, “देखो भाई! पहले ही मंदी चल रही है, ऐसे में बेकार चीज़ों पर फिजूलखर्ची बचाकर तो कॉस्ट कटिंग तो करनी ही पड़ेगी ना!”

“मैंने भी पूरी फॅमिली के साथ बैठ कर विश्लेषण देखा था, खून तो मेरा भी खौल गया था, आखिर मैं भी दिल्ली में ही रहता हूँ ब@#$$. खैर, खुद किया है तो खुद ही निबटो!” -अपूर्ण ने हाथ में बॉक्सिंग ग्लोव चढाते हुए कहा।”

सूत्रों की मानें तो मांग खारिज होने के साथ ही एंकर महोदय ने अपने शाहीन बाग की ग्राउंड रिपोर्टिंग जैसे खतरनाक मिशन को ठंडे बस्ते में डाल दिया है।

 



ऐसी अन्य ख़बरें