Monday, 26th August, 2019

चलते चलते

मेरे डिबेट में ना जाने की वजह से मिला रवीश को अवार्ड: संबित पात्रा

04, Aug 2019 By किल बिल पांडे

नयी दिल्ली. रवीश कुमार को 2019 के रैमॉन मैग्सेसे अवॉर्ड मिलने की घोषणा के साथ ही उन्हें बधाइयों के बोझ का इस कदर सामना करना पड़ रहा है कि उसके भार से उनके दोनों कंधे ही झुक गए हैं। अवॉर्ड देने वाले संस्थान ने कहा है कि रवीश कुमार को यह अवार्ड “बेआवाजों की आवाज” बनने के लिए दिया गया है। लेकिन इन सारी शुभकामनाओं के बीच बीजेपी के कुख्यात प्रवक्ता संबित पात्रा ने यह कहकर सनसनी फैला दी, कि रवीश को अवार्ड उनकी वजह से मिला है और उन्हें मेरा शुक्रिया कहना चाहिए।

sambit
मीडिया से बात करते संबित

अपने साथी प्रवक्ताओं को तस्सली से बैठाने के लिए मशहूर संबित ने पूरे मामले पर फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि, ”देखिये सीधी सी बात है! अवार्ड देने वाली संस्था ने साफ-साफ कहा है कि रवीश को यह अवार्ड उन लोगों के मुद्दे उठाने के लिए दिया जा रहा है जिनके मुद्दे अक्सर नहीं उठाये जाते! ये सब मेरी डिबेट में ना जाने की वजह से ही संभव हुआ है!”

“मैं उनकी डिबेट में जाता तो उनको भी बाकी एंकरों की तरह इधर-उधर उलझा देता! मैंने उन्हें बेमतलब के मुद्दों में नहीं उलझाया इसीलिए वो जनता के मुद्दे उठा पाए! वरना मेरे रहते मजाल है कोई ऐसा कर दे!” -संबित ने हमारे रिपोर्टर के हाथ में बिस्कुट थमाते हुए कहा ।

दूसरी ओर खबर है कि रवीश को अवार्ड मिलने की घोषणा होते ही बाकी चैनलों में मातम पसरा है। सबके आँसूओं को मेकअप के सहारे छुपाने का प्रयास जारी है। सूत्रों की मानें तो इस मुसीबत से निकलने के लिए प्रसिद्ध पत्रकार अधीर चौधरी, जल्द ही मैग्सेसे अवॉर्ड का डीएनए कर उसे एंटी नेशनल घोषित कर सकते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें