Monday, 16th September, 2019

चलते चलते

"ICU और भंडारे में अंतर होता है!" -यह जानकर चौंक पड़ा न्यूज़ रिपोर्टर

21, Jun 2019 By Ritesh Sinha

नोएडा. ‘कब तक’ न्यूज़ चैनल में काम करने वाला एक न्यूज़ रिपोर्टर, उस समय चक्कर खाकर गिर पड़ा जब उसे पता चला कि ‘ICU’ और भंडारे में अंतर होता है। दरअसल, सुजीत गंजुम को पता ही नहीं था कि ICU में धड़धड़ाते हुए घुसना अच्छी बात नहीं है, उन्हें किसी ने बताया ही नहीं था कि ऐसा करने से मरीजों की जान पर भी आ सकती है, यह रहस्य तो उन्हें आज पता चला है।

Shocked-Husband
साला, किसी ने बताया नहीं!

उन्हें यह राज़ बताने वाली कोई और नहीं बल्कि सुजीत की महिला कलीग संजना कश्यप ही हैं। हुआ यूँ कि, सुजीत अभी-अभी मुजफ्फरपुर से बीमार बच्चों की रिपोर्टिंग करके स्टूडियो पहुँचा था। बिहार में उसने इलाज कर रहे डॉक्टरों को जमकर परेशान किया और ‘ICU’ में ग़दर भी मचाया था। सुजीत की इस हरकत से अच्छी-खासी TRP आई थी, यही वजह है कि स्टूडियो में आने पर उनका जोरदार स्वागत किया जा रहा था।

इसी स्वागत समारोह के बाद खोपचे में हल्की-फुल्की चर्चा के दौरान, उनके कलीग संजना ने उससे कहा कि, “बधाई हो! आपने बहुत अच्छी रिपोर्टिंग की है, चारों तरफ आपकी ही तारीफ हो रही है, पर एक बात मैं कहना चाहती हूँ, मैंने सुना है कि ‘ICU’ और भंडारे में अंतर होता है, कोई भी मुँह उठाके वहाँ नहीं घुस सकता!”

इतना सुनते ही सुजीत चौंक पड़ा। “क्या बात करती हो? ये सब झूठ है!” -उसने लापरवाही से जवाब दिया।

“नहीं बाबा! मैं सच कह रही हूँ, मुझे मेरी एक डॉक्टर फ्रेंड ने बताया था!” -संजना ने सरफ़राज़ की तरह बर्गर दबाते हुए कहा। इतना बड़ा रहस्य सुनते ही सुजीत को जोर का झटका लगा और वह वहीँ पर चक्कर खाकर गिर पड़ा। बाद में उसे उठाकर एक महंगे अस्पताल में जमा करा दिया गया।

आज सुबह जब उन्हें होश आया तो हमने उनसे जबरदस्ती बात की। अपनी सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि, “मुझे सच में पता नहीं था कि ICU के भी प्रोटोकॉल होते हैं, मुझे तो भंडारा टाइप लगा और मैं घुस गया! अब जान गया हूँ तो अगली बार ध्यान रखूँगा!” -कहते हुए उन्होंने  कड़वी वाली दवाई गटक ली।



ऐसी अन्य ख़बरें