Friday, 22nd November, 2019

चलते चलते

पैनलिस्टों की सँख्या को देखते हुए रिपब्लिक टीवी के स्टूडियो को घोषित किया गया 'ज़िला'

29, Oct 2019 By किल बिल पांडे

नयी दिल्ली. महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा के चुनाव नतीजे देश को मिल गये हैं, इसी के साथ ही देश को एक नया ज़िला भी मिल गया है। भारत सरकार ने रिपब्लिक टीवी के स्टूडियो को ज़िला घोषित करने का महान फ़ैसला ले लिया है। सऊदी अरब की यात्रा पर जाने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने इस प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है।

Arnab-Republic-Window
नया जिला!

दरअसल, एग्जिट पोल की चर्चा के प्रसारण के बाद से ही रिपब्लिक के स्टूडियो को ज़िला बनाने की मांग उठने लगी थी। इस बार चर्चा के लिए इक्कीस पैनलिस्टों को बुलाकर स्टूडियो ने अपना ही पिछला रिकॉर्ड तोड़ डाला था।

रिपब्लिक के जनसँख्या विस्फोट से मची अफरा-तफरी का आलम यह था कि चर्चा के दौरान दो पैनलिस्टों के जूते, तीन के बच्चे और चार के पर्स खोने की घटनाएँ भी हो गयीं। इन्ही मुसीबतों से निपटने के लिए स्टूडियो के बगल में ‘खोया-पाया केंद्र’ भी बनाया गया था लेकिन सब बेमानी साबित हुआ।

आये दिन हो रही इन अजीब घटनाओं की एफआईआर दर्ज कर-करके परेशान हुई महाराष्ट्र पुलिस ने, रातों-रात रिपोर्ट तैयार कर गृह मंत्रालय से इसकी सिफारिश कर डाली।

सूत्रों की मानें तो रिपोर्ट में साफ लिखा है कि “इतने बड़े स्तर पर आयोजित जनसमूह को सँभालने के लिए स्टूडियो को खुद की पुलिस फ़ोर्स की आवश्यकता है, इसलिए इसे जल्द से जल्द ज़िला बनाया जाये! खुद गृहमंत्री अमित शाह ने अपने जन्मदिन के दिन मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत इस सिफारिश को मान लिया।

इस ख़बर के सामने आते ही राजनीति भी तेज हो गयी है। दिल्ली विधानसभा चुनाव के औपचारिक ऐलान से पहले ही एक्शन मोड में आयी केजरीवाल सरकार ने, इसे दिल्ली के साथ हुई नाइंसाफी बताते हुए कहा कि “पूर्ण राज्य की माँग करते-करते हमारा गला सूख गया लेकिन मोदीजी ने हमारी माँग आज तक पूरी नहीं की और इन्हें बिना मांगे ही ज़िला बना दिया! हम जल्द ही इसके खिलाफ़ धरना देेंगे!”



ऐसी अन्य ख़बरें