Thursday, 21st November, 2019

चलते चलते

अगली बार गिरती अर्थव्यवस्था से ध्यान हटाने के लिए स्टूडियो में खुद न्यूक्लियर धमाका करके दिखायेंगे एंकर

06, Sep 2019 By किल बिल पांडे

फिल्म सिटी नॉएडा : देश में भले ही मंदी ने दस्तक देकर अर्थव्यवस्था की रफ़्तार को सुस्त कर दिया हो, लेकिन देश के कुछ न्यूज़ चैनल पूरी शिद्दत के साथ हालात पर पर्दा डालने में लगे हुए हैं।  पिछले कुछ महीनों से ही ट्रक भर-भरकर कश्मीर, चिदम्बरम और बाढ़ से संबंधित विशेषज्ञ चैनलों के स्टूडियो में लाये जा रहे हैं जो डिबेट के नाम पर चिल्ला-चिल्लाकर मोटी कमाई भी कर रहे हैं।

aaj-tak
जंग की तैयारी पूरी है!

लेकिन इन सबके चिल्लाने का कोई फ़ायदा नज़र आता दिखाई नहीं दे रहा क्योंकि दबी ज़बान में ही सही, लोग गिरती जीडीपी और खस्ता अर्थव्यवस्था की बातें करते सुने जा सकते हैं।

ये खबर लगते ही नॉएडा फिल्म सिटी के चैनलों के स्टूडियो में सन्नाटा छा गया और सारे धुरंधर एंकरों के चेहरों पर मायूसी साफ देखी गयी।  बिगड़ते हालात को देखते हुए, आनन-फानन में सभी न्यूज़ चैनलों के उच्च अधिकारीयों ने आपात बैठक बुलाकर पूरे मामले से निपटने के लिए कड़े फैसले लेते हुए, कई घोषणाएँ कर डालीं।

बैठक के बाद की गयी प्रेस कांफ्रेंस में अखिल भारतीय ध्यान भटकाऊ समिति के प्रवक्ता जेठालाल ने इन घोषणाओं की जानकारी देते हुए बताया कि, “देखिये जनता स्मार्ट हो गयी है, कहीं न कहीं से जानकारी का जुगाड़ कर ही लेती है, हम इन्हें न्यूक्लियर धमाकों की स्थिति में बंकर बनाने को कह रहे हैं, पाकिस्तान के हालात बता रहे हैं  लेकिन इन्हें तो जीडीपी के गिरावट के कारण जानने हैं, हद्द है! ”

इस नाजुक हालात को देखते हुए सब ने मिलकर तय किया है कि अगली बार जैसे ही जीडीपी गिरेगी सारे एंकर अपने-अपने स्टूडियो में लाइव न्यूक्लियर धमाका कर के दिखायेंगे और उसके बाद उस पर चर्चा भी करेंगे! जब तक जनता अपनी आँखों से धमाका देख नहीं लेगी, तब तक ऐसे ही सही मुद्दों पर सवाल करती रहेगी! कुछ तो रिस्क लेना ही पड़ेगा!” -जेठालाल ने मुँह फुलाते हुए कहा।

सूत्रों की मानें तो इन घोषणाओं ने एंकरों में नव उर्जा का संचार कर दिया है। जोश का आलम ये है कि ‘ची न्यूज़’ ने तो उत्तर कोरिया को एक दर्जन न्यूक्लियर बम के आर्डर भी दे डाले हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें