Monday, 26th August, 2019

चलते चलते

जैसे ही पता चला कि 'हनीफ़' ने बनाया था बेड, उतर के ज़मीन पे लेट गये पंडित अमित शुक्ला

01, Aug 2019 By बगुला भगत

जबलपुर. ज़ोमैटो केस वाले पंडित अमित शुक्ला उसूलों के बड़े पक्के हैं। अपने इन्हीं उसूलों के चलते कल रात उन्होंने सारी रात ज़मीन पर सोकर गुज़ारी और ये सब हुआ एक मुसलमान मिस्त्री की वजह से!

Zomato-Amit-Shukla2
ज़मीन पर सोते पंडिज्जी

हुआ यूँ कि ज़ोमैटो वाले लड़के को मना करने के बाद पंडिज्जी खाली पेट सोने के लिए लेटे हुए थे कि तभी पत्नी ने कहा, “कहीं ऐसा तो नहीं कि हमारा ये बेड भी किसी मुसलमान ने बनाया हो!”, पत्नी का इतना कहना था कि पंडिज्जी तुरंत उठकर बैठ गये और ससुराल फ़ोन लगा दिया और ससुरजी से पूछा- “पापाजी, शादी में हमें जो बेड दिये थे, वो किस से बनवाया था?”

आधी रात को ये सुनकर ससुरजी घबरा गये और बोले, “बेड और सोफ़ा सेट तो हनीफ़ से बनवाया था जमाई बाबू! क्या टूट…!” इतना सुनते ही पंडिज्जी कूदकर बेड से नीचे उतर गये और सारी रात फ़र्श पर सोकर काटी।

लेकिन इतने पर भी ख़ैर नहीं थी। सुबह जब कमर को सीधा करते हुए उठे तो पता चला कि जिस मकान में रह रहे हैं, उसे बनाने वालों में भी मुसलमान मिस्त्री शामिल थे। यह पता चलते ही पंडिज्जी घर से बाहर! बाहर ही नहाना-धोना किया और ज़रूरत का सारा सामान बीवी-बच्चों से आवाज़ लगा-लगाकर मँगवाया।

लेकिन शायद ये भी काफ़ी नहीं था! किसी ने आकर बताया कि जिस सड़क पे वो खड़े हैं, उसे बनाने में भी कोई मुसलमान शामिल था! इतना सुनते ही पंडिज्जी उछलकर पेड़ पर चढ़ गये।

अंतिम समाचार लिखे जाने तक घरवाले पेड़ के नीचे खड़े उन्हें मना रहे थे और पंडिज्जी उतरने को राज़ी नहीं थे। घरवालों को डर सता रहा है कि अगर कहीं पेड़ लगाने वाला भी कोई मुसलमान निकल गया तो क्या होगा!



ऐसी अन्य ख़बरें