Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

"रामराज्य में तो लोग नमक और रोटी बड़े प्यार से खाते थे!" - योगी आदित्यनाथ

04, Sep 2019 By बगुला भगत

लखनऊ. मिर्ज़ापुर के सरकारी स्कूल में मिड-डे मील में बच्चों को नमक और रोटी दिये जाने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान आ गया है। योगीजी ने कहा है कि “कुछ लोग मुझे यूपी को रामराज्य बनाने से रोकना चाहते हैं लेकिन मैं इसे बनाकर ही छोड़ूँगा!”

Yogi-Namak-with-Roti1
नमक-रोटी का महत्व समझाते योगीजी

“रामराज्य में तो लोग बड़े प्यार से नमक और रोटी खाते थे और संतुष्ट रहते थे। रामराज्य में ना हॉस्पिटल होते थे और ना ऑक्सीजन सिलेंडर! ये सब तो इस कलयुग की देन है।” – उन्होंने नमक-रोटी का महत्व समझाते हुए कहा।

फिर वो नमक-रोटी परोसे जाने की दूसरी वजह बताते हुए बोले, “और नमक खाने से लोग वफ़ादार बनते हैं, तो अगर आज हम इन बच्चों को नमक खिला रहे हैं तो कल को ये गद्दारी नहीं करेंगे।”

इसके बाद उन्होंने तीसरी वजह भी बताई और कहा, “हिंदू संस्कृति में गाय माता का स्थान सबसे ऊँचा है, इसलिए लोग उसे नमक और रोटी खिलाते हैं। इस हिसाब से हमने बच्चों को गौ-माता के बराबर का दर्ज़ा प्रदान किया है।”

“और गाय को नमक-रोटी खिलाने से ग़रीबी दूर हो जाती है और जिनकी शादी नहीं हो रही होती, उनकी शादी हो जाती है, तो अगर नमक-रोटी खाने से ये बच्चे भी कल को अमीर हो जाएँगे और इनके भी फेरे पड़ जाएँगे, तो इसमें बुराई क्या है!” – यह कहकर योगीजी एसी गौशाला में गायों को छप्पन भोग लगाने रवाना हो गये।



ऐसी अन्य ख़बरें