Thursday, 25th April, 2019

चलते चलते

योगीजी के साथ धोख़ाधड़ी! 'गौ-शिक्षा' के बहाने करा लिये बच्चों के एजुकेशन फंड पर हस्ताक्षर

04, Jan 2019 By बगुला भगत

लखनऊ. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ गाय के नाम पर एक बार फिर धोख़ाधड़ी हो गयी! राज्य सरकार के दो अफ़सरों ने ‘गौ-शिक्षा’ के नाम पर उनसे बच्चों के एजुकेशन फंड वाली फ़ाइल पर हस्ताक्षर करा लिये और फंड भी जारी करा लिया। दोनों आरोपी अफ़सर फ़रार बताये जा रहे हैं।

yogi-adityanath-cow2
एक किशोर बछड़े से एबीसीडी सुनते योगीजी

मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, ये दोनों अफ़सर हमेशा एजुकेशन और हॉस्पिटल जैसी फालतू चीज़ों की बात करते रहते थे। एक बार तो ये दोनों सीएम साब से मिलने के लिए उनकी गौशाला ही पहुँच गये थे और गाय को गुड़ खिलाते समय उन्हें डिस्टर्ब कर दिया था।

और कल जब सीएम साब ने गायों के लिए शराब पर 2% ‘गौ कल्याण उपकर’ (Cow Welfare Cess) लगा दिया और गौशालाओं के लिए 100 करोड़ रुपये मंजूर कर दिये, तो इन दोनों अधिकारियों को आइडिया आया कि भोले-भाले सीएम साब से गाय के नाम पर वे किसी भी पेपर पर साइन करा सकते हैं।

तो दोनों प्लानिंग बनाकर पहुँच गये और फ़ाइल सीएम साब के सामने रख दी। फ़ाइल के कवर पर गाय का फोटू लगा हुआ था और अंदर भी हर पेज़ पर ऊपर गाय का लोगो बना हुआ था। यह देखकर योगीजी को फतेहपुर में गायों को भागवत कथा सुनाने की घटना याद आ गयी और उन्होंने बिना कुछ सोचे-समझे साइन कर दिये।

वो तो बाद में जब फंड क्लियरेंस के लिए फ़ाइल फ़ाइनेंस मिनिस्ट्री पहुँची तो इस धोख़ाधड़ी का पता चला। अधिकारियों ने जाँच शुरु कर दी कि यूपी में गाय के अलावा और किसी चीज़ की फ़ाइल कहाँ से आयी? जाँच की भनक लगते ही दोनों आरोपी अफ़सर फ़रार हो गये।

इस घटना के बाद, योगीजी ने फ़ैसला किया है कि अब वो किसी भी फ़ाइल पर साइन करने से पहले उसे पढ़कर भी देखेंगे ताकि किसी फालतू चीज़ पर राज्य सरकार के पैसे बर्बाद ना हों!



ऐसी अन्य ख़बरें