Friday, 20th September, 2019

चलते चलते

नये आरक्षण बिल का लाभ उठाने के लिए आपको अपना 'आईफोन' नाले में फेंकना होगा: केंद्र सरकार

08, Jan 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. फ़ेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए केंद्र सरकार में सामाजि‍क न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्री, थावरचंद गहलोत ने एक बड़ा खुलासा किया है, उन्होंने कहा है कि सवर्णों को आरक्षण देने के लिए जो बिल लाया जा रहा है, उसका लाभ उठाने के लिए हितग्राही को अपना ‘आईफोन’ नज़दीक के किसी नदी-नाले में फेंकना पड़ेगा, तभी उसे आरक्षण का लाभ मिलेगा! मंत्री जी के इस बयान के बाद देश में हाहाकार मच गया है।

iPhone1
आरक्षण चाहिए या आईफोन?

मंत्री जी ने आगे कहा कि, “देखिए जिनके पास भी आईफोन है उसे आरक्षण कैसे दिया जा सकता है? ऐसे लोग तो आरक्षण के बारे में भूल ही जाएँ! यही नहीं, जो लोग आईफोन पकड़कर बस या ट्रैन में शो-ऑफ करते रहते हैं, उनके तो चौदह पुश्तों को आरक्षण नहीं मिलेगा!”

“इसके अलावा नेटफ्लिक्स का सब्सक्रिप्शन रखने वालों को भी इसका कोई फायदा नहीं मिलेगा! अगर सरकारी नौकरी चाहिए तो पहले आईफोन नाले में फेककर आओ, तब बात आगे बढ़ेगी!” -मंत्री जी ने मोदी जी का विजन देश के सामने रखा।

जब हमने उनसे पूछा कि इसका लाभ तेजस्वी यादव और स्टुअर्ट बिन्नी को मिलेगा या नहीं? तो मंत्री जी को साँप सूंघ गया और वे चुपचाप उठकर चले गए।

मंत्री जी के इस खुलासे के बाद जो लोग मोदी सरकार की तारीफ करते नहीं थक रहे थे,  उन्होंने अब पुतला फूंकने की तैयारी शुरू कर दी है। उनका कहना है कि हमारे साथ धोखा हुआ है।

ऐसे ही एक सवर्ण युवक विनोद कश्यप ने हमें बताया कि, “ये कैसा नियम है बे, जमीन बेचकर तो आईफोन खरीदा था, अब इसे भी फ़ेंक देंगे तो बचेगा क्या? घंटा? हम तो खुश हो रहे थे कि चलो सरकार ने हमारे लिए कुछ तो किया, ये तो धोखा हो गया!”

दरअसल, तीन राज्यों में मिली करारी हार के बाद मोदी सरकार सवर्णों को खुश करने के लिए संविधान में संशोधन करने जा रही है। संशोधन द्वारा आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को 10% आरक्षण देने का प्लान बनाया गया है। इसके अलावा हार्दिक पटेल को बेरोज़गार करना भी, इस फैसले का एक बड़ा उद्देश्य माना जा रहा है।



ऐसी अन्य ख़बरें