Friday, 22nd November, 2019

चलते चलते

'Donate' बटन वाला वेबसाइट लॉंच नहीं कर पाये 'आरे' के एक्टिविस्ट, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार

07, Oct 2019 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. देश की शीर्ष अदालत ने उन छात्रों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को जमकर फटकार लगाई है जो मुंबई के ‘आरे’ कॉलोनी में मेट्रो कार शेड बनाये जाने का विरोध कर रहे हैं। जाहिर है यह डाँट याचिकाकर्ताओं के वकीलों को सुननी पड़ी है। 

donate
ऐसा एक वेबसाइट मंगता ऐ!

वकील संजय हेगड़े को डाँटते हुए जज साब ने कहा कि, “यह विरोध प्रदर्शन कई महीनों से चल रहा है फिर भी तुम लोग एक वेबसाइट लॉंच नहीं कर पाए हो! इस टाइप का काम शुरू करने से पहले एक वेबसाइट तैयार कर लेना चाहिए, जिसके होम पेज पर एक बड़ा सा ‘Donate’ बटन दिखाई देता हो पर तुम लोगों से तो ये भी नहीं हुआ! आजकल अधिकांश लोग ऐसा ही करते हैं!

लगता है आधे-अधूरे मन से मेट्रो कार शेड का विरोध कर रहे हो!” -जज साब ने वकील की ओर घूरते हुए कहा। यह सुनकर हेगड़े जी ने दलील दिया कि, “सर, आप पहले हमारे दस्तावेज तो चेक कर लीजिए! वहाँ पर्यावरण को नुकसान पहुँचाया जा रहा है, ये सरासर गलत…!” वो ऐसा कह ही रहे थे कि जज साब ने उन्हें टोकते हुए कहा- “क्या सही है और क्या गलत, ये हम बाद में देखेंगे, पहले आप हमें Donate बटन वाला वेबसाइट दिखाइए!

इतने बड़े-बड़े ‘सेलेब्रिटीज’ कार शेड का विरोध कर रहे हैं, क्या किसी के दिमाग में यह बात नहीं आई कि ट्वीट करने के अलावा एक वेबसाइट भी बनाना पड़ता है!” -जज साब ने झुँझलाते हुए कहा।

वकील साब मुँह नीचे करके चुपचाप खड़े हो गये। कोर्ट में सन्नाटा छा गया। इस बीच अगली तारीख का एलान कर दिया गया। कोर्ट से बाहर आते ही याचिकाकर्ताओं के वकील संजय हेगड़े ने कहा कि, “माननीय सर्वोच्च न्यायलय ने जो कहा है वो बिल्कुल ठीक कहा है, हमसे बहुत बड़ी भूल हुई है, हम कोर्ट का सम्मान करते हैं, अपना वेबसाइट बनाने के बाद और अपने दस्तावेज दुरुस्त करने के बाद ही हम कोर्ट में उपस्थित होंगे!”



ऐसी अन्य ख़बरें