चलते चलते

"सब घर पे ही तो हो, डिसाइड कर लो कि धोनी बेस्ट है या गंभीर!" -मोदीजी ने देशवासियों का किया आह्वान

02, Apr 2020 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. ‘धोनी और गंभीर में बेस्ट कौन है?’ -वाला मुद्दा फिर से सुर्ख़ियों में आ गया है, हर साल अप्रैल का महीना शुरू होते ही ये मुद्दा क्रिकेट प्रेमियों के लिए बहस का विषय बन जाता है। धोनी के फैन गंभीर के फैन को गरियाते रहते हैं तो वहीं गंभीर के फैन ये कहकर हाथ मलते रहते हैं कि गौतम गंभीर को वर्ल्ड कप जीताने का ठीक से क्रेडिट नहीं मिला!

Modi-WFH1
कर लो भाई डिसाइड!

अब इस बहस में प्रधानमंत्री मोदी भी कूद गए हैं, उन्होंने देशवासियों का आह्वान करते हुए ट्वीट किया है कि, “आजकल तो सब घर पे ही हो, किसी के पास कुछ काम नहीं है, क्यों ना इस खाली समय का उपयोग करते हुए हम ये पता लगाने का प्रयास करें कि धोनी और गंभीर में कौन ज्यादा महान है?

मेरे प्यारे भाइयों और बहनों, हमने हमेशा से, बरसों से चली आ रही समस्याओं के समाधान करने का प्रयास किया है, इसी कड़ी में समय की मांग है कि आज ये फैसला हो जाए कि किसने ज्यादा मेहनत की थी? सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बंदे ने या फिर छक्का मारकर मैच जिताने वाले ने!” -मोदी ने अपने ट्वीट में आगे लिखा।

इस चिरंतन बहस पर अपनी राय देते हुए, भोपाल के रहने वाले विवेक सिन्हा ने बताया कि, “देखिए! धोनी बेस्ट है, वैसे भी क्रेडिट तो कैप्टन को ही मिलना चाहिए! गंभीर ने किया ही क्या है, सिवाय डाइव मारकर जर्सी गंदा करने के? इसलिए मेरे हिसाब से तो ‘माही’ का कमाल था ये सब!

उधर, ‘गौतम गंभीर संघर्ष समिति’ के अध्यक्ष हर्ष कुमार ने मजबूती से कहा है कि, “क्रेडिट तो गंभीर को ही मिलना चाहिए, बहुत अन्याय हुआ है लड़के के साथ!” अब देखना दिलचस्प होगा कि 15 अप्रैल तक ये मुद्दा सुलटता है या नहीं?



ऐसी अन्य ख़बरें