Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

पेट्रोल के गिरते दामों पर राहुल गाँधी का बयान- "पेट्रोल सस्ता कर प्रदूषण फैलाना चाहते हैं मोदी जी!”

16, Jan 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. पेट्रोल के दाम पिछले तीन महीनों से लगातार कम हो रहे हैं, दीपावली के बाद से पेट्रोल के दाम क़रीब 12 से 15 रुपए तक गिर चुके हैं। हालाँकि, विपक्ष को इसमें भी परेशानी नज़र आ रही है। काँग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने पेट्रोल की घटती कीमतों पर मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि,  “पेट्रोल के घटते दाम मोदी सरकार की नाकामयाबी दर्शाती है!

petrol
तेल के दाम बढ़ाओ!

पेट्रोल की घटती कीमतों का मतलब है सड़क पर ज़्यादा गाड़ियाँ चलेंगी और ज़्यादा गाड़ियों का मतलब है ज़्यादा प्रदूषण!”

इस ऐतिहासिक ट्वीट के बाद लगभग हर काँग्रेसी नेता ने तेल के गिरते दामों पर सरकार को जमकर कोसा।

हमने इस बारे में काँग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला से भी बात करी, उनका कहना था “ये सब मोदीजी की चाल है, ताकि लोगों का ध्यान ‘राफ़ेल’ से हटाया जा सके! आप ही बताइए, तेल के दाम कम होने पर लोग धनिया लेने भी गाड़ी में जाएंगे! इस  तरह सड़क पर बहुत सारी गाड़ियाँ हो जाएँगी, जिससे दुर्घटना होने की सम्भावना भी बढ़ जाएगी! इसलिए मेरी गुज़ारिश है कि मोदी जी वापस पेट्रोल के दाम बढ़ा दें!”

जब बात विपक्ष की चल रही हो तो भला ममता बैनर्जी कैसे दूर रह सकती हैं। उन्होंने ने भी इस मुद्दे पर अपनी नाराज़गी ज़ाहिर की है।

उन्होंने कहा “मोदीजी ने पेट्रोल के दाम वोट पाने के लिए घटाए हैं, लेकिन क्या वो यह भूल गए कि घटते दामों से पेट्रोल पंप के ग़रीब मालिकों को कितना नुक़सान हो रहा है? मैं अपने देश में दाम कम होने नहीं और दूँगी और इसके ख़िलाफ़ तीन दिन के ‘भारत-बंद’ की घोषणा करती हूँ!”

भारतीय राजनीति के इतिहास में महँगाई पर हंगामा होते तो बहुत देखा है मगर यह पहली बार है जब कोई चीज़ सस्ता होने पर भी हंगामा होने वाला है।



ऐसी अन्य ख़बरें