Sunday, 26th January, 2020

चलते चलते

प्रधानमंत्री का एलान, नौजवान अफसरों की नियुक्तियां पर्ची सिस्टम से, उम्रदराजों का ट्रांसफर नीलामी से 

10, Mar 2018 By shaukin lekhak

दिल्ली. दिल्ली  में हुए जनप्रतिनिधि  सम्मलेन के दौरान माननीय प्रधानमंत्री जी ने ऐलान किया कि अब से नए अफसरों ख़ास कर जिनकी उम्र ३० से कम है की पोस्टिंग पर्ची सिस्टम के माध्यम से  की जाएंगी और उम्रदराज़ यानि ४० प्लस वालो का ट्रांसफर नीलामी से की जायेगी।

Modi 8
सरनेम हटाने से पहले सोच में डूबे मोदी जी

नौजवान अधिकारियों की नियक्ति पीछे तर्क देते हुए  माननीय प्रधानमन्त्री जी ने अपने भाषण में कहा की नए अधिकारी ऊर्जावान है और वो केंद्र या राज्य में बैठे राजनेताओं और अपने सीनियर अधिकारीयों को भाव नहीं देते।  कभी कभी तो देख लेने की धमकी तक दे डालते है।  इसलिए ये  प्रावधान किया जा रहा  है की हर साल-छह महीने  पर अलग-अलग शहरों और  विभागों के नाम की पर्चियां उड़ाई जाएँगी, अधिकारी जो पर्ची उठाएगा और उसमे जो ठिकाना लिखा होगा वही पर उसे जाना होगा

इस व्यवस्था की तारीफ कर खुद मुँह मिया मिट्ठू बनते हुए माननीय प्रधानमंत्री जी ने कहा इस तरह से कोई अधिकारी यह आरोप नहीं लगा पायेगा की सरकारी व्यवस्था में भ्रस्टाचार है, क्यूंकि वह खुद ही पर्ची निकलेगा और तो और अधिकारीयों में आपसी द्वेष भी  खतम होगा कि मुझे ख़राब इलाका मिला उसे अच्छा।  अब सबकुछ उनकी किस्मत है और उनका काम की वो जहा भी है वह से कितना कमा ले।
४० साल  से ज्यादा उम्र वाले अधिकारियों का  ट्रांसफर  ए क्लास शहरों की नीलामी  से किया जायेगा, मतलब शहरो में पोस्टिंग पाने के लिए उन्हे नीलामी में शहर खरीदना होगा। नीलामी से प्राप्त धन का एक हिस्सा पहले से तैनात अधिकारी को शहर छोड़ने के लिए दिया जायेगा.  बी और सी  क्लास शहरों के लिए सुविधानुसार अनुदान योजना रखी गयी है , जो अधिकारी जितना अनुदान कर पायेगा उसे उतनी ही उच्च श्रेणी का शहर या विभाग दिया जायेगा,  मांग ज्यादा होने पर बी  क्लास शहरों-विभागों  को भी नीलामी में शामिल किया जा सकता है.  इस सम्बन्ध में माननीय प्रधानमंत्री जी ने कुटिल मुस्कान बिखेरतेहुए बताया की तमाम राज्य सरकारों से बात चल रही है और  सूचना जारी  जाएगी।
नीलामी योजना के पीछे तर्क यह दिया जा  रहा  है कि  इससे हर अधिकारी अपने शहर को ए क्लास बनाने की कोशिश  करेगा जिससे की  शहर छोड़ने के तौर पर ज्यादा से ज्यादा पैसा   ऐंठ सके।  जब हमने इस सम्बन्ध में एक सी  क्लास शहर फर्रुखाबाद के  उम्रदराज डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर से बात की तो उन्होने ने बताया की यह मोदी जी क्रांतिकारी योजना है, इससे हम अधिकारियों को  अपनें भविष्य को  सुधारने का भरपूर मौका मिलेगा , योजना आने दीजिये अगली बार मैं  आपको ग़ज़िआबाद में मिलूंगा, ईश्वर के आशीर्वाद और शहरवासियों की अनुकम्पा से इतना तो बना लिया है।


ऐसी अन्य ख़बरें