Friday, 22nd November, 2019

चलते चलते

ग़लती से सचमुच की गंदगी वाली जगह पे सफ़ाई करने पहुँच गये नेताजी, हालत बिगड़ी

17, Sep 2017 By बगुला भगत

भोपाल. साफ़-सफ़ाई करने के चक्कर में आज बेचारे एक नेताजी बीमार पड़ गये। हुआ यूँ कि विलास विजयवर्गीय नामक ये नेताजी प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर मनाये जा रहे ‘सेवा दिवस’ पर फोटो खिंचवाने झाड़ू लगाने पहुँचे थे। लेकिन ग़लतफ़हमी की वजह से वो ग़लत जगह पर पहुँच गये, जिसकी वजह से यह हादसा हो गया।

swachchh bharat
ग़लती से यहाँ पहुँच गये थे नेताजी

असल में, जहाँ थोड़े से पत्ते-वत्ते डालकर ‘आर्टिफिशियल’ गंदगी फैलाई गयी थी, उसकी जगह पे वो सचमुच की गंदगी वाली जगह पर पहुँच गये, जहाँ चारों तरफ़ सचमुच का ‘ऑरिजिनल’ कूड़ा-कचरा भरा पड़ा था। बराबर में सीवर की पाइपलाइन भी ओवरफ़्लो कर रही थी। ऐसी जगह पर नेताजी को देखकर लोग हैरान रह गये कि इतने साफ़-सुथरे कपड़ों वाले नेताजी आज इस गंदगी में कैसे आ गये।

देखते ही देखते वहाँ भीड़ लग गयी। भीड़ देखकर विजयवर्गीय जी ख़ुश हो गये। उन्होंने तुरंत दस्ताने माँगे। भीड़ में से किसी ने कहा कि “अभी लाता हूँ!” लेकिन दस्तानों का इंतज़ार किये बिना वो तुरंत सफ़ाई में जुट गये। कुछ युवक मोबाइल से उनका वीडियो बनाने लगे तो नेताजी ने समझा कि शायद यही मीडिया वाले होंगे।

उन्हें सफ़ाई करते हुए दो मिनट ही हुए होंगे कि तभी किसी ने उन्हें फ़ोन करके पूछा- “कहाँ रह गये आप? ये मीडिया वाले जा रहे हैं, जल्दी आइये!” नेताजी बोले- “मैं तो कब का पहुँच चुका हूँ। मैंने तो एक नाली साफ़ भी कर दी!” उधर से आवाज़ आयी- “ओहो! आप किसी सचमुच की गंदगी वाली जगह पे तो नहीं पहुँच गये?” यह सुनते ही नेताजी बदबू और सदमे से बेहोश हो गये। लोगों ने उठाकर उन्हें अस्पताल पहुँचाया।

फिलहाल उनकी हालत ख़तरे से बाहर बताई जा रही है। इस घटना से सबक लेते हुए सभी पार्टियों के अध्यक्षों ने अपने सभी नेताओं को हिदायत दे दी है कि “अच्छी वाली गंदी जगह पर ही जायें, सचमुच की गंदगी वाली जगह पर जाने से बचें! अगर किसी को कुछ हो गया तो पार्टी की कोई ज़िम्मेदारी नहीं होगी।”



ऐसी अन्य ख़बरें