Saturday, 17th November, 2018

चलते चलते

'ईद पर मोदीजी की शुभकामनाओं से मुसलमानों को कोई फ़ायदा नहीं हुआ'- सर्वे

22, Aug 2018 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईद के मौक़े पर मुसलमानों को जो शुभकामनाएं दी हैं, उनसे मुसलमानों को कोई फ़ायदा नहीं हुआ है। फ़ायदा तो दूर, उल्टे कई लोगों को उनसे नुकसान हुआ बताया जा रहा है। यह चौंकाने वाला खुलासा एक सर्वे में सामने आया है, जिसे देश के एक जाने-माने न्यूज़ चैनल ने कराया है।

Modi-tweet-eid
ईद की शुभकामना वाला ट्वीट करते मोदी जी

सर्वे आते ही कांग्रेस ने बीजेपी पर हमला बोल दिया है। कांग्रेस का कहना है कि “देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी पीएम ने मुसलमानों को शुभकामनाएं दीं और उनका कोई फ़ायदा नहीं हुआ! हमारे राज में तो ये होता था कि इधर शुभकामना दी और उधर फ़ायदा हुआ!”

मोदी विरोधी खेमे का मानना है, “चूंकि मोदीजी सेकुलर नहीं हैं, इसलिए उनकी शुभकामना सिर्फ़ एक दिखावा है। अब से पहले जितने भी प्रधानमंत्री हुए हैं, वे सभी दिल से मुसलमानों का भला चाहते थे। इसलिए उनकी हालत में तुरंत सुधार आ जाता था।”

मुलायम सिंह यादव ने भी मोदी के ट्वीट पर निशाना साधते हुए कहा है कि “कित्ते वुसलवान व्हाई अग्रेजी संवजते हैं, बताओ हवैं! उस नेवाल के पीएम के लारै तो हिंदी में वीट कयते हैं औ अवने ई देस के वुसलवान व्हाईयों के लारै अंग्रेजी मैं! कित्ते सरम की वात है!”

उधर, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विपक्ष पर पलटवार करते हुए कहा है कि, “पहले तो ऐसा भी हुआ है कि शुभकामनाएँ मुसलमानों को दी गयीं और फ़ायदा दूसरे लोगों को हो गया!” अपने इस दावे के समर्थन में उन्होंने कुछ आंकड़े भी पेश किये, जिनमें आज़ादी से लेकर अब तक मुसलमानों की स्थिति का ज़िक्र किया गया है।

इस बीच, ख़बर मिली है कि इस खुलासे के तुरंत बाद आरएसएस ने मोदीजी को नागपुर तलब किया है और मुसलमानों से नजदीकी बढ़ाने पर फटकार लगाई है।



ऐसी अन्य ख़बरें