Tuesday, 25th September, 2018

चलते चलते

"मैं एक ऐसे चायवाले से मिला, जो पेट की गैस से चाय बना लेता था": मोदी जी

13, Aug 2018 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर अपने भाषणों में ग़रीब लोगों की प्रेरणादायी कहानियाँ सुनाते रहते हैं। परसों उन्होंने एक ऐसे शख़्स का क़िस्सा सुनाया, जो पेट की गैस से चाय बनाता था।

gas-tea-vendor
पेट की गैस से बनी चाय बेचता एक चायवाला

विश्व गोबर-गैस दिवस (13 अगस्त) पर आयोजित एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी जी ने कहा, “जब मैं मुख्यमंत्री था, तो मैं एक ऐसे व्यक्ति से मिला, जो पेट की गैस से चाय बनाता था क्योंकि उसके पेट में बहुत गैस बनती थी।”

“तो एक दिन उस व्यक्ति के मन में विचार आया कि क्यों ना पेट से निकलने वाली इस गैस का इस्तेमाल किया जाये! यह सोचकर उसने एक ऐसा स्टूल बनवाया, जिसके बीच में छेद था। फिर उसने अपने पाजामे में भी एक छेद कर लिया और बाज़ार से एक पाइप ख़रीद कर ले आया।”

“अब जैसे ही उसके पेट में प्रेशर बनता, वो चूल्हे पर पानी चढ़ा देता और स्टूल पर बैठ जाता था। फिर स्टूल के नीचे से पाइप निकालकर अपने पाजामे में लगा लेता था। इस प्रकार उसके पेट से जो गैस निकलती थी, वो उससे चाय बनाने का काम करने लगा और उसे पहले की तुलना में चार गुनी बचत होने लगी।”

“हम सब अपनी गैस को इधर-उधर छोड़कर उसे ऐसे ही बर्बाद करते रहते हैं। अगर सवा सौ करोड़ देशवासी उस चायवाले की तरह अपने पेट की गैस का सदुपयोग करने लगें तो हर साल हम लाखों मीट्रिक टन गैस बर्बाद होने से रोक सकते हैं और भारत को विश्व की गैस-शक्ति बना सकते हैं।” -कहकर प्रधानमंत्री जी ने अपना भाषण समाप्त किया।



ऐसी अन्य ख़बरें