Tuesday, 19th November, 2019

चलते चलते

'370' हटाने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने नेहरू को किया याद, कहा- "उनके बिना संभव नहीं था ऐसा कर पाना!"

08, Aug 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. आख़िर वो दिन आ ही गया जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के पहले प्रधानमंत्री नेहरू जी को याद किया और वो भी उनकी तारीफ करने के लिए। हुआ यूँ कि संसद में जब आर्टिकल-370 पर बहस हो रही थी तो मोदीजी ने पंडित नेहरू का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि उनके बिना यह संभव नहीं था।

modi
नेहरू को याद करते मोदीजी

उन्होंने कहा कि, “अगर हमारा देश नहीं होता तो जवाहरलाल नेहरू भी नहीं होते! अगर नेहरू जी नहीं होते तो वो कश्मीर मसले को UN लेकर भी ना जा पाते!”

ना वो ‘धारा-370’ जैसा कदम उठाते और ना ही कश्मीर में आतंकवाद बढ़ता! ना हमारी सरकार उस मुद्दे को उछालती और ना ही हम जैसे लोग सत्ता में कभी आ पाते! इसीलिए उनके लिए एक ‘शुक्रिया’ तो बनता ही है!” -मोदीजी ने आगे कहा।

उनका गुणगान हमें इसलिए भी करना चाहिए कि उन्हीं की वजह से हमें राहुल गाँधी मिले जिनके एक-एक भाषण से हमारी पार्टी के दो-दो सीटें बढ़ जाती हैं! मैं समझता हूँ ये किसी चमत्कार से कम नहीं है!” -उन्होंने अपनी बात पूरी की और सभी सांसदों ने मेज थपथपाकर उनका अभिनंदन किया।

कांग्रेस के पूर्व/वर्तमान अध्यक्ष राहुल गाँधी भी खड़े हो गये और मोदीजी जी के लिए तालियाँ बजाने लगे। राहुल ने कहा “आज फ़ाइनली मोदी जी ने नेहरू जी का महत्व समझा है. हमें ख़ुशी हुई है कि देर से ही सही लेकिन उन्हें अपनी गलती का एहसास हुआ है! आपने मेरे पिताजी का भी महत्व समझा और थोड़ा-थोड़ा मेरा भी!

हालाँकि आपके समर्थक मेरा मज़ाक़ उड़ाते हैं और मेरी छोटी सी गलती को भी बार-बार दोहराकर उसे बड़ा बना देते हैं! खैर, यही लोकतंत्र की ताक़त है, हर किसी को अपने विचार रखने की स्वतंत्रता है!” -राहुल के इतना बोलते ही पूरा सदन ठहाकों से गूँज उठा। बाद में उनके पीछे बैठे शशि थरूर ने राहुल का कुर्ता खींचकर उन्हें वापस बैठा दिया और सदन का लंच ब्रेक हो गया।



ऐसी अन्य ख़बरें