Wednesday, 17th July, 2019

चलते चलते

बॉर्डर पर तैनात हुई मौसम विभाग की टीम, बादल दिखते ही हो सकती है अगली एयर स्ट्राइक

13, May 2019 By किल बिल पांडे

ब्यूरो.  पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी के ‘बादल’ को रक्षा कवच के तौर पर इस्तेमाल करने के सार्वजानिक खुलासे के बाद भारत- पाक सीमा पर गतिविधियाँ तेज़ हो गयीं है। खबर है कि इस एंटी-राडार तकनीक का इस्तेमाल करके पाकिस्तान पर एक और एयर-स्ट्राइक को अंजाम दिया जा सकता है। इसके लिए सीमा पर मौसम विभाग की एक टीम भी तैनात कर दी गयी है।

scientist
अगल हमले के लिए मौसम पर नज़र रखते वैज्ञानिक

गौरतलब है कि ये वही टीम है जिसने पिछली बार बालाकोट एयर स्ट्राइक के वक़्त अहम भूमिका निभाई थी। इस बार भी टीम का काम प्रधानमंत्री कार्यालय को पल-पल के मौसम और खासकर बादलों की रियल टाइम जानकारी मुहैया करवाना है।

अपनी जान पर खेलकर एल.ओ.सी पहुंचे फ़ेकिंग न्यूज़ संवाददाता से बात करते हुए मौसम विभाग टीम के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि, “देखो भई, ये स्ट्राइक वगैरह हम कुछ नहीं जानते, हमे तो बस बादलों की जानकारी दिल्ली भेजनी है, फिर चाहे वो इसे वायु सेना को भेजें या कृषि दर्शन में दिखाएँ, हमें क्या?”

ये पूछे जाने पर कि, “इस बार का ऑपरेशन पिछली बार से अलग कैसे है?” अधिकारी ने ज़ुबान केसरी गटकते हुए कहा कि, “अजी, कुछ अलग नहीं है। वही रोना धोना है यहाँ का। एक टेंट में चार-चार लोग ठूस दिए हैं, खाने-पानी का भी मामला ढीला-ढाला है, मच्छरों ने जो परेशान किया हुआ है वो अलग! पिछली बार का टी.ए, डी.ए भी अब तक क्लियर नहीं हुआ है, ऐसा ही चलता रहा तो मैं रिजाइन कर दूंगा!“ कहते हुए अधिकारी फूट-फूट कर रोने लगा।

खबर लिखे जाने तक जहाँ हमारे संवाददाता इमोशनल हुए अधिकारी को चुप करवाने में व्यस्त था, वहीँ न्यूज़ चैनलों ने मेजर जी.डी बक्शी की एडवांस बुकिंग शुरू कर दी है ।



ऐसी अन्य ख़बरें