Sunday, 8th December, 2019

चलते चलते

"पढ़ाई-लिखाई की ज़रूरत ही क्या है, मुझे भी तो बिना पढ़े जॉब मिल गयी!"- सूसूधीर चौधरी

12, Nov 2019 By बगुला भगत

नोएडा. जेएनयू के छात्र फ़ीस बढ़ोतरी के ख़िलाफ़ आंदोलन कर रहे हैं, जिसे मीडिया के कुछ समझदार लोग ग़लत बता रहे हैं। ‘जीजी न्यूज़’ के जाने-माने एंकर सूसूधीर चौधरी का तो यहाँ तक कहना है कि जेएनयू-वेएनयू जैसी यूनिवर्सिटीज की हमें ज़रूरत ही क्या है!

susudhir-chaudhary
देश के एक जाने-माने जॉबधारी एंकर

सूसूधीर ने जेएनयू प्रोटेस्ट का डीएनए टेस्ट करते हुए कहा, “मुझे देखो! मैं भी तो बिना पढ़े-लिखे करोड़ों कमा रहा हूँ, एक्स कैटेगरी की सिक्योरिटी मिली हुई है, आलीशान घर है, एसयूवी है…क्या नहीं है मेरे पास और वो भी बिना पढ़े-लिखे!”

“सोचो! पढ़ाई-लिखाई पर जो पैसे बर्बाद होते हैं, उनसे कितने मंदिर बन सकते हैं, कितनी महा-आरतियाँ हो सकती हैं! और सबसे बड़ी बात! पढ़-लिखकर बच्चे सवाल पूछना सीख जाते हैं और फालतू के सवालों से हमारी सरकार परेशान हो जाती है और सरकार परेशान होती है तो हम परेशान हो जाते हैं, तो ख़ुद को परेशान करने से क्या फ़ायदा? हैं!” – उन्होंने सवाल दाग़ते हुए कहा।

“इन जेएनयू वालों की आठ-दस हज़ार ज़्यादा देने में जान निकल रही है, इतने रुपये तो मैं रोज़ अपने डॉगी पे उड़ा देता हूँ! समझे!”

“और जब हमारे बैंक एजुकेशन लोन देने को तैयार हैं तो लोन लेकर क्यों नहीं पढ़ते ये लोग! अगर मेरी एनुअल सैलरी 5 करोड़ नहीं होती तो मैं अपने बच्चों को लोन लेकर ही पढ़ाता, भूख़ा मर जाता लेकिन कम फ़ीस पर नहीं पढ़ाता! बाई गॉड!” – यह कहकर सूसूधीर ने अपना डीएनए ख़त्म किया और अपनी नयी फ़ॉर्च्यूनर की तरफ़ बढ़ गये, पीछे-पीछे उनके सिक्योरिटी वाले भी दौड़ पड़े।



ऐसी अन्य ख़बरें