Tuesday, 20th August, 2019

चलते चलते

टाइम-पास करने के लिए ममता बैनर्जी ने पेंटिंग बनानी शुरू कर दी, धरना स्थल छोड़कर भागे TMC कार्यकर्ता

05, Feb 2019 By Ritesh Sinha

कोलकाता. प.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी, केंद्र सरकार से खासी नाराज हैं और विरोध प्रदर्शन करते हुए मेट्रो सिनेमा के सामने धरने पर बैठ गई हैं। शुरू-शुरू में तो यह धरने का चक्कर उन्हें अच्छा लगा लेकिन थोड़ी देर बाद ही उन्हें बोरियत महसूस होने लगी। “ये केजरीवाल कैसे बैठता था महीनों तक, मैं तो एक दिन में ही बोर हो गई!” -बगल में बैठे लोगों के कान में दीदी बड़बड़ाने लगी।

mamata
इसी पेंटिंग को देखकर भागे कार्यकर्ता

तभी उन्हें मन बहलाने का एक जबरदस्त आईडिया आया, पेंटिंग करने का! धरना का धरना हो जाएगा और थोड़ा मन भी बहल जाएगा। उन्होंने तुरंत अपने घर से ब्रश, पेंट, बोर्ड वगैरह मंगवा लिया और मंच पर ही शुरू हो गईं।

दीदी ने एक पेंटिंग बनानी शुरू ही की थी कि TMC कार्यकर्ता व्याकुल हो उठे और अपनी जान बचाकर भागने लगे। धरना-स्थल पर अफरा-तफरी मच गई।

मोदी सरकार के खिलाफ जो लोग अभी-अभी नारे लगा रहे थे उनके चेहरों पर ‘पेंटिंग’ की दहशत साफ़ झलकने लगी। मीडिया वाले भी कैमरा उठाकर भागने लगे। अपने समर्थकों की हालत देखकर दीदी ने अपना ब्रश नीचे रख दिया और माइक उठाकर बोलीं- “ओके.. मैं पेंटिंग नहीं करुँगी! रूक जाइए.. मैंने ब्रश नीचे रख दिया है! वापस आइए! संविधान खतरे में है!”

ममता बैनर्जी की अपील सुनकर TMC कार्यकर्ताओं ने राहत की साँस ली और सभी कार्यकर्ता वापस अपनी जगह पर आकर जम गए। ब्रश, पेंट, बोर्ड वगैरह को मंच से नीचे उतार कर खोपचे में फ़ेंक दिया गया। माहौल फिर से जम गया।

“आप पेंटिंग देखकर क्यों भाग खड़े हुए थे?” -ऐसा पूछे जाने पर एक TMC कार्यकर्ता, प्रोसेनजीत चटर्जी ने बताया कि, “हम दीदी के साथ है, उनको हम कभी नहीं छोड़ सकता! लेकिन दीदी को भी हमारा ख्याल रखना पड़ेगा! इस तरह का टॉर्चर हम बर्दाश्त नहीं कर सकते! अब दीदी ने वादा किया है कि वो यहाँ पेंटिंग नहीं बनाएँगी, हम बहोत खुश है!” -कहते हुए प्रोसेनजीत CBI के खिलाफ नारे लगाने लगा।



ऐसी अन्य ख़बरें