Sunday, 5th April, 2020

चलते चलते

अब तक 'हमला' ना होने से केजरीवाल की चिंता बढ़ी, चुनाव में हार की आशंका से घबराए

23, Jan 2020 By bapuji

नयी दिल्ली. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने विधानसभा चुनाव मे नामांकन करने के बाद जीत की हुंकार तो भर दी है लेकिन कार्यकर्ताओं की मानें तो केजरीवाल भीतर से डरे हुए हैं, इसका कारण भारतीय जनता पार्टी और मनोज तिवारी नहीं बल्कि मुख्यमंत्री केजरीवाल खुद हैं।

Kejriwal3
हमलावर का पता पूछते केजरीवाल जी!

दरअसल, जैसे ही चुनाव आता है, मुख्यमंत्री जी पर कोई ना कोई हाथ साफ़ कर ही देता है, कभी हार पहनाने के बहाने तो कभी जूता फेंककर! कुछ नहीं तो स्याही की कुछ बूंदों का शगुन तो लग ही जाता है लेकिन इस बार नामांकन हो गया लेकिन ‘बोहनी’ तक नही हुई है। अपने जादुई कंटाप से दिल्ली विधानसभा जिताने वाले ‘लाली’ ऑटो ड्राइवर ने भी इस बार संन्यास की घोषणा कर दी है।

चुनाव संपन्न होने में कुछ ही दिन बाकी हैं और इधर पूरा सूखा पड़ा हुआ है, इस पर मुख्यमंत्री ने सख़्त नाराजगी जताई है और पार्टी कैडर को मन लगा कर काम करने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि, “अब वक्त आ गया है कि बरसों से आजमाया हुआ नुस्खा फिर से काम में लाया जाए.. और अधिक देर हुई तो लेने के देने पड़ जाएंगे!”

वैसे तो ये अच्छी बात नहीं है लेकिन मुझे लगता है कि ये सब मेरे लिए ‘लकी’ साबित होता है! जब-जब मुझे जीत हासिल हुई है तब-तब लोगों ने मुझ पर हमला भी किया था!

चूँकि इस बार एक भी ‘अटेम्प्ट’ नहीं हुआ है इसलिए चुनाव से डर लगने लगा है! कहाँ मर गये सारे के सारे?” -उन्होंने आसपास नजर दौड़ाते हुए कहा।



ऐसी अन्य ख़बरें