Friday, 22nd November, 2019

चलते चलते

दिल्ली पुलिस के सिर्फ एक दिन के धरने से केजरीवाल नाराज़, लंबा धरना देने के देंगे टिप्स

07, Nov 2019 By किल बिल पांडे

नयी दिल्ली. तीस हज़ारी कोर्ट में दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। दोनों ही पक्ष अपने साथ नाइंसाफी का आरोप लगाते हुए अपनी मांगो पर अड़े हुए हैं। हालाँकि इस पूरे विवाद से दिल्ली की केजरीवाल सरकार, कोसों दूर है लेकिन लगता है कि मुख्यमंत्री जी को यह दूरी पसंद नहीं आ रही है।

Kejriwal-Delhi-Statehood
हम सिखाएंगे धरना..

अलग-थलग पड़े केजरीवाल ने आदत से मजबूर होकर खुद ही अपने आप को इस प्रकरण में घसीट लिया है। प्रदूषण के लिए  दुसरे राज्य की सरकारों को कोसने के बाद अब वो पुलिस-वकील विवाद पर फोकस कर रहे हैं।

खबर है कि दिल्ली पुलिस के केवल एक दिन के धरने से केजरीवाल खासे नाराज हैं, उन्होंने पुलिस के धरने को ‘धरना’ मानने से ही इंकार कर दिया है, उनका मानना है कि सात दिन से कम किया जाने वाला कोई भी प्रदर्शन ‘धरना’ नहीं माना जाएगा।

आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे कार्यकार्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि, “दिल्ली पुलिस के एक दिन के धरने से मैं बहुत दुखी हूँ, इधर इनका मुख्यमंत्री पूरे हफ्ते बिना डगमगाए धरना दे डालता है और ये लोग एक दिन में ही ‘टें’ बोल गये! एक दिन में तो किसी भी धरने का अच्छे से ‘वार्म अप’ भी नहीं होता!” -कहते हुए उन्होंने पुलिस वालों के धरने को आधा स्टार देकर उसका मान भांग कर दिया।

केजरीवाल यहीं नहीं रुके, उन्होंने गृह मंत्रालय को चुनौती देते हुए कहा कि, “केंद्र सरकार के अंतर्गत आने के कारण दिल्ली पुलिस आज तक ठीक से धरना देना नहीं सीख पाई है, यदि एक महीने के लिए दिल्ली पुलिस मेरे अंतर्गत आ जाए तो सबको धरने देने में पारंगत कर दूँगा!”

केजरीवाल ने मंच से सभी पुलिसवालों के लिए फ्री वर्कशॉप का ऐलान भी किया ताकि धरना देने की यह पारंपरिक कला कहीं विलुप्त ना हो जाए। खबर लिखे जाने तक इस कोर्स में एक भी रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाया था।



ऐसी अन्य ख़बरें