Thursday, 25th April, 2019

चलते चलते

जर्नलिज्म का सिलेबस चेन्ज! पूरे साल मंदिर बनाना सिखाया जाएगा अब पत्रकारों को

31, Jan 2019 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. केंद्र सरकार ने देश भर के मीडिया इंस्टीट्यूट्स के सिलेबस में बड़ा बदलाव कर दिया है। न्यूज़ चैनलों की ओर से इस बदलाव की माँग काफ़ी दिनों से की जा रही थी, जिसे सरकार ने आज ख़ुशी-ख़ुशी मान लिया।

Mandir-News12
मंदिर बनाने में जी-जान से जुटे पत्रकार

इस बदलाव के बाद पत्रकारिता संस्थानों में अब महंगाई, बेरोज़गारी, शिक्षा, किसानों की आत्महत्याओं जैसे फालतू मुद्दों पर रिपोर्टिंग और एंकरिंग करने के बजाय मंदिर बनाना सिखाया जाएगा। मंदिर की नींव और उसका गारा कैसे तैयार किया जाये, रेत में सीमेंट कितना मिलाया जाये,  वास्तु के हिसाब से उसका प्रवेश द्वार किस दिशा में होना चाहिए…वगैरह-वगैरह!

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन (IIMC) के महानिदेशक केजी सुरेश ने इस फ़ैसले पर ख़ुशी जताते हुए कहा कि “ये तो बहुत पहले हो जाना चाहिए था। जिन चीज़ों को हमें न्यूज़ में दिखाना ही नहीं है, उनके बारे में बच्चों को पढ़ाने से क्या फ़ायदा! और पब्लिक भी मंदिर-मस्जिद वाली न्यूज़ ही देखना चाहती है…और हमारे छात्रों की रोज़ी-रोटी भी उसी से चलनी है!”

“जो चैनल फालतू की चीज़ें दिखाता है, उसे तो बाबा रामदेव के गाय के शुद्ध देसी घी की एड भी नहीं मिलती!” -महानिदेशक जी ने हँसते हुए कहा और छात्रों को अवैध संबंधों का नाट्य रूपाँतरण सिखाने चले गये।



ऐसी अन्य ख़बरें