Tuesday, 20th August, 2019

चलते चलते

जाटों ने मारा मराठों को ताना- "बिना रेल की पटरी उखाड़े भी कोई आरक्षण मांगता है क्या?"

10, Aug 2017 By banneditqueen

मुंबई/रोहतक. कल मराठा क्रांति मोर्चा ने पूरे मुंबई शहर में शांतिपूर्वक रैली निकाली। मराठों की इस करतूत पर जाट ग़ुस्से में हैं। आप सोच रहे होंगे कि शायद जाट इसलिए गुस्से में हैं क्योंकि इनकी मांग भी यही थी और अब मराठा लोग भी आरक्षण मांग रहे हैं तो आप ग़लत हैं। दरअसल जाट इस कारण गुस्सा हैं क्योंकि मराठों ने बिना तोड़फोड़ किए रैली निकाली और सरकार और आस-पास के लोगों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया।

jat-protest-759एक जाट भाई ने हुक्का गुड़गुड़ाते हुए बताया, “इब ये भी कोई तरीका हुआ? ना रेल की पाटरी उखाड़ी ना कोई बस फूँक्की! इस तरह्या भी कोई विरोध होवे है के? ये मराठा छोरों सै दंगा फसाद करते ना बणे है। इक भी चीज ना तोड़ी, मराठा ईबे नया-नया है, हमनै इस तरह्या के खेल भतेरे खेले हैं हमसे सीख लेवैं कुछ!” जाट भाई ने ये भी कहा कि मराठों ने एक ही चीज़ सही की वो ये कि मराठा भी उनकी तरह महँगी-महंगी गाड़ियों में अपने पिछड़े होने का सबूत देने आए थे।

उधर, मराठों ने जवाब दिया है कि “तोड़फोड़ तो हम भी कर देते पर मुंबई में ट्रैफिक से तो हम भी परेशान रहते हैं, बसें जला देते तो और ट्रैफिक हो जाता। पटरी उखाड़ने गए थे पर वहाँ पास वाली बस्ती के लोग हलके हो रहे थे इसीलिए वो प्लान भी कैंसिल करना पड़ा। हाँ SUV में बैठकर आने का आइडिया हमें जाट भाइयों से ही मिला। हमें लगा शायद सरकार के सामने अपने पिछड़ेपन का सबूत दिखाने के लिए यह ज़रूरी होता होगा।”



ऐसी अन्य ख़बरें