Tuesday, 19th November, 2019

चलते चलते

जम्मू-कश्मीर में प्लॉट खरीदने के इच्छुक फेसबुकियों के घर पड़े इन्कम टैक्स के छापे

07, Aug 2019 By किल बिल पांडे

नयी दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावित ‘जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक’ पास होते ही पूरे देश में ख़ुशी का माहौल है। इसी ख़ुशी का इज़हार करते हुए, कुछ लोग इतने उत्साहित हो गये कि फेंकने के मामले में अच्छे-अच्छों को पीछे छोड़ दिया।

income-tax
छापा मारती इन्कम टैक्स की टीम

जैसे मुल्ले की दौड़ मस्जिद तक, वैसे ही कुंवारों की छोटी सोच सिर्फ विवाह तक ही सीमित होती दिखाई दी। इसी अघोषित प्रतिस्पर्धा के चलते बहुत लोगों ने जम्मू-कश्मीर में प्लॉट  खरीदने की प्रबल इच्छाएँ भी ज़ाहिर कर डाली।

सोशल मीडिया पर सार्वजानिक तौर पर बिना पूछे ज़ाहिर की गयी यही ख्वाहिशें, अब इन लोगों के लिए मुसीबत बन गयी है। खबर है कि सोमवार शाम से ही, देशभर में ऐसे स्वयंभू प्रकट ऑनलाइन प्रॉपर्टी खरीदने के इच्छुकों के घर इन्कम टैक्स विभाग के छापे पड़ रहे हैं।

पटना में बबलू नमक शख्स के घर पड़े छापे के बाद इन्कम टैक्स ऑफिसर चुलबुल पांडे ने बताया कि, “हम सुबह से ही इन लोगों पर ऑनलाइन नज़र बनाये हुए थे! जैसे ही इन्होने प्लॉट खरीदने की इच्छा जताई, हम तभी समझ गए कि ससुरे के पास बहुत काला धन है, टैक्स देने के नाम पर नानी याद आती है इन्हें, और खरीदेंगे कश्मीर में प्लॉट!” -पांडे जी ने बबलू के स्क्रीनशॉट मीडिया को दिखाते हुए कहा।

बबलू के समान, ऐसी ही धरपकड़ में धरे गए दिल्ली के किशोर ‘पंकज’ ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि, “अंकल! मेरी तो खुद मोहल्ले के पान वाले के पास तीन महीने की उधारी है, मैं तो ओला, ऊबर का सर्ज प्राइस देख कर पैदल चलने लगता हूँ! मैं क्या प्लॉट खरीदूंगा? वो तो फनी लगने के प्रेशर और फ्री डेटा के इस्तेमाल की खुजली के चक्कर में बोल दिया वरना ऐसा मेरा कोई इरादा नहीं है! सॉरी अंकल, मेरे मुँह से निकल गया!” -कहते हुए पंकज खुद को पीटने लगा। ऐसा होता देख हमारा रिपोर्टर वहाँ से भाग निकला।



ऐसी अन्य ख़बरें