Wednesday, 19th December, 2018

चलते चलते

वोट डालने आई सौ साल की बुजुर्ग महिला से मीडिया वालों ने नहीं की बातचीत, बुढ़िया ने सबको दौड़ाया

07, Dec 2018 By Ritesh Sinha

जैसलमेर. मतदान केंद्र से वोट डालकर निकली सौ साल की एक बुजुर्ग महिला ने आज उस समय मीडिया वालों को डंडे से पीट दिया जब किसी ने भी उनका इंटरव्यू लेना जरूरी नहीं समझा। बुजुर्ग महिला का नाम गट्टू बाई है जो जैसलमेर की रहने वाली है। हालाँकि, गट्टू बाई की उम्र लगभग 102 साल है, फिर भी वह आज भी दिल्ली के न्यूज़ रिपोर्टरों को उनकी नानी याद दिलाने की हिम्मत रखती है। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो वो एकदम ‘फिट’ हैं।

rajasthani-women
अन्याय के खिलाफ आवाज उठाती गट्टू बाई

दरअसल, गट्टूबाई का इस साल वोट देने का कोई इरादा नहीं था, जब उसे किसी ने बताया कि तुम्हारी उम्र के लोग जब वोट देने जाते हैं तो मीडिया वाले उनका इंटरव्यू लेते हैं, तो वह झट से वोट देने जाने को तैयार हो गई।

सुबह दस बजे के आसपास जब वो अपना वोट डालकर मतदान केंद्र से निकलीं तो वहाँ पर बहुत से मीडियाकर्मी मौजूद थे, लेकिन किसी ने भी अपना माइक गट्टू बाई के मुँह के पास नहीं टिकाया, और ना ही किसी ने उनका ‘फोटू’ खींचा। यह देखकर गट्टू को बहुत गुस्सा आया।

उन्होंने अपनी लाठी को हथियार बना लिया और मीडिया वालों पर बिजली बनकर टूट पड़ी। पहला वार ज़ी-न्यूज़ के रिपोर्टर के हिस्से आया, दूसरा वार आज तक वालों को झेलना पड़ा। उनका यह रूप देखकर सारे मीडिया वाले अपनी जान बचाकर भागने लगे। बाद में सुरक्षाकर्मियों के बीच-बचाव करने पर गट्टू बाई का गुस्सा शांत हुआ।

“आपका फोटो हम लोग छापेंगे!” -ऐसा वादा करने पर गट्टूबाई ने फ़ेकिंग न्यूज़ से विशेष बातचीत की। उन्होंने आग उगलते हुए कहा कि, “सब के सब कामचोर हैं, बुजुर्ग महिला ‘भोट’ डालने आई है तो इंटरभ्यू भी नहीं ले रहे हैं! मेरी सहेली भानुमति का इंटरभ्यू कैसे लिया था इन लोगों ने? जबकि उसने तो अभी नब्बे को भी पार नहीं किया है, उसके तीन दाँत ज्यादा टूट गए हैं मेरे से, फिर भी! इसलिए मुझसे रहा नहीं गया! मुझसे पंगा मत लो!” -गट्टू ने लाठी हवा में लहराते हुए कहा।

उधर, चुनाव आयोग ने भी गट्टूबाई का समर्थन किया है। उन्होंने एडवायजरी जारी की है कि नब्बे के ऊपर वाले जितने भी मतदाता आते हैं उनका इंटरव्यू लेना अनिवार्य है।



ऐसी अन्य ख़बरें