Wednesday, 19th December, 2018

चलते चलते

हिंदू दोस्त के घर से चाँदी की चम्मच चुरा के लाये थे ग़ुलाम नबी आज़ाद, तभी से कर दिया बुलाना बंद

19, Oct 2018 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. कांग्रेस के नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कल ये कहकर तहलका मचा दिया कि मुझे अब हिंदू भाई अपने घरों में नहीं बुलाते। कई लोगों को यह बात बुरी लगी कि उन्हें लोग अपने घर नहीं बुला रहे, साथ ही उन्हें जिज्ञासा भी हुई कि ऐसी क्या बात हो गयी!

ghulam-nabi-azad1
“एक चम्मच भी नहीं चुराई भाईसाब…एक चम्मच भी!”

लेकिन आज इस बात का ख़ुलासा हो गया कि इस ‘ना बुलाने’ की शुरुआत कहाँ से हुई थी। दरअसल, करोल बाग़ में त्रिलोचनदास नाम के एक लालाजी रहते हैं, जिनका ग़ुलाम नबी आज़ाद के परिवार से कई पीढ़ियों पुराना याराना है। तो हुआ ये कि लालाजी ने चार महीने पहले ग़ुलामजी को अपने घर डिनर पे बुलाया था।

चूंकि लालाजी ख़ानदानी रईस हैं, इसलिए वो मेहमानों को हमेशा सोने-चाँदी के बर्तनों में खाना परोसते हैं। अब पता नहीं, ग़ुलामजी के घर में कड़की चल रही थी या क्या, उन्होंने खाना खाते समय चाँदी की चम्मचों का सेट पार कर दिया।

उनकी ये हरकत डाइनिंग रूम में लगे सीसीटीवी कैमरे में क़ैद हो गयी। बस! उसी दिन से लालाजी ने उनसे संबंध तोड़ लिये। ये बात अड़ोस-पड़ोस में भी फैल गयी और दूसरे लोगों ने भी ग़ुलामजी को बुलाना बंद कर दिया।

अब चार महीने बाद वो इसी बात की शिकायत कर रहे हैं। उधर, चम्मच चोरी के आरोपों का उनका कहना है कि अगर मेरे घर में या राहुलजी के घर में चाँदी की एक भी चम्मच मिल जाये तो मैं फिर से राजनीति करना शुरु कर दूँगा!



ऐसी अन्य ख़बरें