Wednesday, 21st August, 2019

चलते चलते

गंगा मैय्या ने 'पाप' धोने की पॉलिसी चेन्ज की, नेताओं की पाप धुलाई आज से बंद!

16, Jan 2019 By बगुला भगत

प्रयागराज (इलाहाबाद). गंगा मैय्या ने अपने पाप धोने की पॉलिसी चेन्ज कर दी है। आज से लागू नयी पॉलिसी में नेताओं के पाप धोने की सुविधा छीन ली गयी है। यानि नेता लोग अब उसमें कितनी भी डुबकी लगाएं, उनके पाप उनके शरीर पर ही चिपके रहेंगे।

Amit Shah 3
गंगा मैय्या में डुबकी लाते एक नेताजी

नयी पॉलिसी के बारे में विस्तार से बताते हुए नारद मुनि ने कहा, “भारत में बढ़ रहे पॉल्यूशन की वजह से गंगा मैय्या की पाप धोने की क्षमता में भारी कमी आयी है। गंदगी की वजह से अब उनके जल में उतने शोधक तत्व (डिटर्जेन्ट) नहीं रह गये हैं, जितने आज से 20-25 साल पहले हुआ करते थे। इसलिए उन्हें मजबूरी में यह फ़ैसला लेना पड़ा है।”

“इसके साथ-साथ माँ भागीरथी ने ‘पुण्य’ कमाने वाली सुविधा भी लिमिटेड कर दी है! मैय्या का कहना है कि अगर किसी को पुण्य कमाना ही है तो जाकर कोई अच्छा काम करे, मुझ में डुबकी लगाकर मेरी गंदगी को और ना बढ़ाए!”-मुनिवर ने सर्कुलर पढ़ते हुए कहा।

उधर, देश भर के नेताओं ने गंगा मैय्या की इस नयी पॉलिसी का विरोध किया है। कुछ नेता तो प्रधानमंत्री मोदी से गुहार लगाने पहुँच गये हैं। उन्हें लगता है चूंकि मोदीजी गंगा मैय्या के गोद लिए हुए बेटे हैं तो शायद वो उनके नाम की सिफ़ारिश कर दें।

इसके उलट, कुछ नेताओं ने गंगा मैय्या को ‘एंटी-नेशनल’ घोषित कर दिया है। उन्होंने कहा है कि अगर उसे भारत में रहना है तो हमारे पाप धोने ही पड़ेंगे। अगर हमारे पहले वाले पाप नहीं धुलेंगे तो हम नये पाप कैसे करेंगे!



ऐसी अन्य ख़बरें