Friday, 10th April, 2020

चलते चलते

अब से 'टन' में ही मापी जाएगी देश की 'इकॉनमी', वित्त विभाग ने जारी की अधिसूचना

17, Feb 2020 By किल बिल पांडे

पटना. बिहार के पटना में रहने वाले आठ वर्षीय पिंटू की ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं है, क्योंकि उसके पिताजी आज उसे कूटने की बजाय प्यार कर रहे हैं, कल तक पिंटू को उसके पिताजी जनरल नॉलेज के सवाल का गलत जवाब देने पर पूरे मोहल्ले के सामने ही धो दिया करते थे पर आज वही उसकी आरती कर रहे हैं।

economy
टन-टना-टन टनन-टनन

रातों-रात हुए इस हृदयपरिवर्तन का कारण बने हैं गृहमंत्री अमित शाह जी, जिनकी वजह से पिंटू जैसे अनेकों बच्चों का वो उत्तर सही हो गया जिसमें वे ‘इकॉनमी’ को मापने के यूनिट को ‘ट्रिलियन’ की जगह पर ‘टन’ लिखकर आ गये थे।

दरअसल, हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने इकॉनमी को मापने के लिए ‘ट्रिलियन की जगह ‘टन’ शब्द का इस्तेमाल कर दिया था। विपक्ष समेत सोशल मीडिया ने भी इस बात को लेकर शाह जी की खूब खिल्ली उड़ाई थी।

लेकिन राजनीति के चाणक्य माने जाने वाले अमित शाह ने ऐसा मास्टरस्ट्रोक खेला कि पूरे गणित को ही पलट के रख दिया। गृहमंत्री जी के बयान के बाद वित्त मंत्रालय ने अधिसूचना जारी कर यह साफ कर दिया है कि भारत में अब से इकॉनमी को मापने का पैमाना ‘टन’ ही होगा।

पूरे मामले पर मंत्रालय के प्रवक्ता चिमनलाल चार्ली ने फ़ेकिंग न्यूज को एक्सक्लूसिव जानकारी देते हुए बताया कि, “देखो भई, शाह जी को तुम ऐसा-वैसा मत समझो! वो इस विपक्ष की रग-रग से वाकिफ हैं, उन्हें पता था कि यह ससुरे ऐसा ही कुछ करेंगे इसलिए जैसे ही मोटा भाई से ऑन एयर गड़बड़ हुई उन्होंने तुरंत वित्त मंत्रालय फ़ोन मिला दिया और अपना मास्टरप्लान समझा दिया!

उनकी एक फोन का ही नतीजा है कि यह नोटिफिकेशन जारी हुआ है! खैर, जो भी हुआ अच्छा हुआ! ‘ट्रिलियन’ बोलने में बड़ी परेशानी होती थी, संबित बाबू तक फँस जाते थे, अब सब बढ़िया हो गया है! ‘टन’ को तो हम बीड़ी पीते हुए भी दस बार बोल देंगे!” -चिमनलाल ने नये नोटों के डिजाईन दिखाते हुए कहा।

फ़िलहाल इस फैसले से खुश पिंटू और उसके जैसे अनेकों बच्चे, देश के गृहमंत्री का जन्मदिवस ‘मोटा भाई’ डे के रूप में मनाने के बारे में विचार कर रहे हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें