Wednesday, 26th June, 2019

चलते चलते

मुफ्त के खाने के लिये भाजपा कार्यालय के सामने खड़े हैं ढेरों इंजीनियर, मतलब BJP जीत रही है: E वोटर सर्वे

22, May 2019 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. देश में चुनावी माहौल अपने चरम पर है, सभी चैनलों ने अपना एग्ज़िट पोल दिखा दिया है, लेकिन एक कंपनी ऐसी है जिसका सालों से एग्ज़िट पोल कभी ग़लत नहीं हुआ है, और वो है ‘E वोटर’ सर्वे। इनका सर्वे इंजीनियरों पर आधारित होता है। जिस पार्टी की ओर इंजीनियरों का झुकाव ज्यादा होता है, उसी को यह सर्वे बहुमत दे देती है क्योंकि इस कंपनी का मानना है कि इंजीनियर कभी गलत असेसमेंट कर ही नहीं सकते।

सबको मिलेगा भोजन
सबको मिलेगा भोजन

इस बारे में सटीक जानकारी के लिए हमने ‘E वोटर’ के CEO, कुमार शानू से बात करी। कुमार ने बताया “हम पिछले दस सालों से एग्ज़िट पोल करते आ रहे हैं और हमारा एक भी एग्ज़िट पोल ग़लत साबित नहीं हुआ है! क्योंकि हमारा एग्ज़िट पोल एक अनोखे ट्रिक पर काम करता है!”

“देखो! हर पार्टी जीतने के बाद अपने समर्थकों को मुफ़्त में लड्डू और नाश्ता वगैरह परोसती है, ऐसे में वहाँ मेस के खाने से परेशान इंजीनियर भी चले आते हैं! इसका मतलब यह हुआ कि जिस पार्टी दफ़्तर के सामने, सबसे ज़्यादा इंजीनियर दिख जाएँ हम मान लेते हैं कि वही पार्टी जीत रही है!

“इस बार लगभग हर इंजीनियर भाजपा मुख्यालय के बाहर डेरा डालकर बैठा है, साफ़ है कि ‘आएगा तो मोदी ही’ -शानू ने आगे बताया।

हमने इस बारे में कई इंजीनियरों से भी बात की, जिन्होंने ‘कुमार’ के तथ्यों का समर्थन किया है। एक इंजीनियर प्रशांत चौबे ने बताया “इंजीनियर केवल उसी पार्टी के दफ़्तर के बाहर बैठते हैं जहाँ से खाने की उम्मीद होती है, ऐसे में हम पब्लिक का मूड एक महीने पहले से भाँपने में लग जाते हैं, जिस पार्टी के जीतने की खुशबू मिलती है, उसके दफ्तर में धावा बोल देते हैं!”

“हम लोग तो उस पार्टी के छुटभैये नेताओं को ‘अंकल’ वगैरह भी कह देते हैं ताकि चटनी दो-तीन बार मिले! इस बार हम भाजपा के दफ़्तर के बाहर बैठ रहे हैं, बस, रिजल्ट आ जाये तो हमारा दो दिन का खाना कहीं नहीं गया है!” -चौबे जी ने अपनी बात पूरी की। वैसे इस सर्वे की गारंटी सौ-प्रतिशत है फिर भी मुक़ाबला कड़ा होने की पूरी उम्मीद है।



ऐसी अन्य ख़बरें