Tuesday, 22nd October, 2019

चलते चलते

बिजली की दरें इसलिए बढाई गयी हैं ताकि लाइट जाने पर ज्यादा पैसे बचें: यू.पी. बिजली विभाग

04, Sep 2019 By किल बिल पांडे

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को पूरे राज्य में बिजली की दरें बढ़ाये जाने की घोषणा कर दी। अंदाजा लगाया जा रहा है कि नयी दरों के लागू होने के बाद राज्य में बिजली के दाम 12-15 प्रतिशत तक बढ़ जायेंगे। हालाँकि उत्तर प्रदेश का बिजली विभाग, इस बढ़ोत्तरी का रेडीमेड जवाब दे रही है।

electricity-in-up-village1
बिजली बचत करने का आसान तरीका१

जनता में इस फैसले को लेकर खासा रोष है, आंदोलन के मूड में दिख रही जनता इससे पहले कि कुछ कदम उठाती, बिजली देने से ज्यादा काटने के लिए मशहूर उत्तर प्रदेश बिजली विभाग ने संकटमोचन बन मोर्चा संभाल लिया।

बिजली विभाग ने दरें बढ़ाये जाने का ऐसा कारण दे दिया है कि जनता कंफ्यूज़ हो गयी है कि ख़ुशी मनाएँ या गम!

बड़ी मुश्किल से चाय-पानी के नाम पर हाथ लगे बिजली विभाग के प्रवक्ता मुंगेरीलाल मिश्रा ने हमारे रिपोर्टर को बताया कि, “जनता को कोई काम नहीं है, बैठे-ठाले लोग हैं इसलिए बेवजह तिल का ताड़ और राई का पहाड़ बना रहे हैं! बिजली है ही कहाँ भाईसाब लोगों को देने के लिए, उल्टा जनता को तो खुश होना चाहिए कि बिजली महँगी हो गयी है!”

भौंचक्के रिपोर्टर को आगे समझाते हुए मुंगेरीलाल ने कहा कि, “देखो! सब कुछ अफसरों के स्तर पर सोच लिया गया है, किसी का बिल ज्यादा नहीं आएगा, उल्टा बिजली के कट ज्यादा लगाये जायेंगे! जब ज्यादा लाइट जायेगी तो टीवी, पंखा, कूलर कम चलेंगे! अब आप ही बताओ, ये बचत नहीं है तो और क्या है? सिंपल!

योगी जी यहाँ जनता के पैसे बचा रहे हैं और आप हो कि सड़क पर उतरने की बात कर रहे हो!” -मुंगेरीलाल ने पान की पीक से रंगोली बनाते हुए कहा

ये पूछे जाने पर कि ऐसे तो बिजली की चोरी करने वाले भी अमीर हो जायेंगे। मुंगेरीलाल ने तुरंत रिपोर्टर पर सीरियस रिपोर्टिंग करने के जुर्म में एफ.आई.आर. दर्ज करवाने की धमकी दे डाली । जिसे सुन हमारा रिपोर्टर फ़ौरन नौ दो ग्यारह हो लिया।



ऐसी अन्य ख़बरें