Saturday, 17th November, 2018

चलते चलते

दुबई के शेखों ने गडकरी को फोन लगाकर कहा- "पेट्रोल 55 का हो जाए तो बताना हम खरीदेंगे!"

11, Sep 2018 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली.  पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के बीच, केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री, नीतिन गडकरी ने दावा किया है कि इथेनॉल फैक्ट्री शुरू हो जाने के बाद देश में पेट्रोल 55/लीटर और डीजल 50/लीटर मिलने लगेगा। मंत्री जी का दावा है कि ‘इथेनॉल’ को पेट्रोल में मिलाकर यह कमी लाई जा सकती है। मंत्री जी ने दुर्ग में एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही।

gadkari
बयान देने के बाद माफ़ी मांगते गडकरी जी

हालाँकि, ये सच है कि पेट्रोल-डीजल में इथेनॉल की मिलावट करके कुछ पैसा बचाया जा सकता है, लेकिन गडकरी जी फ्लो-फ्लो में कुछ ज्यादा ही बोल गए। यही वजह है कि गडकरी के इस बयान से खाड़ी के देशों में हड़कंप मच गया है, वो भी यह सुनकर हैरान हैं कि कोई पेट्रोल हमसे भी सस्ता कैसे बेच सकता है?

शेखों ने तुरंत गडकरी को फोन लगाया और उनसे कहा कि “तुम्हारे यहाँ पेट्रोल जब 55 रु./लीटर हो जाए तो प्लीज हमें मिस-कॉल कर देना! हम लोग भी इंडिया से इम्पोर्ट कर लेंगे! वो क्या है ना, इधर कुएँ से तेल निकालना, फिर उसे रिफाइन करना, बहुत महँगा पड़ रहा है, ऊपर से डॉलर का चोचला! आज से आप क्रूड आयल यहाँ से ले जाना और बदले में पचपन के रेट पर पेट्रोल भेज देना! ठीक है?”

गौरतलब है कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने भारत बंद का भी एलान किया था, जिसमे पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रैली निकालर मोदी के खिलाफ नारेबाजी करने के बजाय राहुल गाँधी को ही लपेट लिया था। हालाँकि, पार्टी ने उन घटनाओं को छिटपुट घटनाओं की संज्ञा दी है।

उधर, पचपन रुपये वाला बयान देने पर प्रधानमंत्री मोदी ने गडकरी को जमकर फटकार लगाई है। उन्होंने गडकरी से कहा कि “अगर फेंकना ही था तो चालीस रुपये लीटर कहने में क्या बुराई थी? पचास भी बहुत ज्यादा लग रहा है! पचपन तक तो ले ही गए थे, पंद्रह रुपये और घटा देते तो तुम्हारा क्या जाता? लगता है तुम्हें अनुभव नहीं है इन सब चीज़ों का!”



ऐसी अन्य ख़बरें