चलते चलते

'जनता कर्फ्यू' के चलते कोरोना ने बदला कार्यक्रम, अब 22 को आराम कर 23 मार्च से होगा सक्रिय

21, Mar 2020 By Fake Bank Officer

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार, 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक ‘जनता कर्फ्यू’ लागू करने का सुझाव दिया है। बताया जा रहा है कि इससे कोरोना से लड़ने में मदद मिलेगी। लेकिन कोरोना वायरस भी मोदीजी की उम्मीद से कही ज़्यादा होशियार निकला!

corona-virus-janta-cuurfew
कोरोना को देखते मोदीजी

पता नही उसे कहाँ से भनक लग गयी कि मोदीजी ने रविवार को देश मे जनता कर्फ्यू लगवा दिया है। कोरोना ने दोबारा एक ट्वीट करके बताया है कि अब वो भी संडे को आराम करेगा और सोमवार 23 मार्च से फिर सक्रिय होगा।

कोरोना के चचेरे भाई डेंगू ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “मोदीजी ने कोरोना को छोटा-मोटा दो टके का वायरस समझ कर भारी गलती की है। कोरोना इतनी आसानी से हार नही मानने वाला। अब वो 22 को आराम करेगा और 23 मार्च से शिकार की तलाश में निकलेगा।” डेंगू ने आगे यह भी बताया कि जनता कर्फ्यू के जवाब में कोरोना का यह नया मास्टर स्ट्रोक है।

विशेषज्ञों के अनुसार, कोरोना जानता है कि इंडिया में ढीले स्क्रू वाले लोगों की कमी नहीं है। उसे पता है कि अगर मोदीजी ने 22 मार्च को घर से नहीं निकलने को बोला है तो ये चू@$% 22 को ही ध्यान रखेंगे। 23 को ये भोले लोग फिर से अपने रुटीन में लग जाएंगे। इसलिए कोरोना ने अपना प्लान बदल दिया है।

कुछ लोगों का यह भी मानना है कि मोदीजी और कोरोना में लड़ाई इस बात की भी चल रही है कि दोनों में से कौन ज़्यादा मीडिया कवरेज ले जाता है।



ऐसी अन्य ख़बरें